जन-जन के आराध्य बांके बिहारी जी अभी दो माह और नहीं देंगे भक्तों को दर्शन, मंदिर 30 सितम्बर तक हुआ बंद

 

मथुरा । जन जन के आराध्य श्रीबांकेबिहारी के दर्शनों के लिए भक्तों को अब दो माह और इंतजार करना पड़ेगा। इसकी जानकारी शुक्रवार शाम मंदिर प्रबंधन ने एक पत्र के माध्यम से जिला प्रशासन को दी हकोरोना वायरस महामारी एवं मंदिर में चल रहे सिविल कार्य के कारण विश्व विख्यात बांके बिहारी मंदिर के कपाट श्रद्धालुओं के लिए 30 सितम्बर तक बंद रहेंगे।

मंदिर के प्रबंधक मुनीश शर्मा ने शुक्रवार को बताया कि यह निर्णय मंदिर के सेवायत गोस्वामियों की सहमति से लिया गया है। सभी गोस्वामी इस बात से सहमत थे कि कोरोना वायरस के बड़े पैमाने में संक्रमण के चलते मंदिर का श्रद्धालुओं के लिए खोलना उचित नही है क्योंकि मंदिर में आनेवाली श्रद्धालुओं की भारी भीड़ के कारण मंदिर के अन्दर सामाजिक दूरी बनाए रखना मुश्किल हो जाएगा।

उन्होंने बताया कि इसके अलावा मंदिर के चौक का फर्श बना रही कम्पनी ने भी कहा है कि वह फर्श का सही तरीके से निर्माण 30 सितंबर तक ही पूरा कर पाएगी। उनका कहना था कि करीब एक पखवारे से अधिक समय पहले मंदिर को खोलने पर मंदिर की चौक में एक बहुत बड़ा गड्ढा मिला था उसके बाद इंजीनियरिंग कम्पनी ने देखने के बाद इसका काम आज से शुरू किया है। उन्होंने बताया कि मंदिर में आनेवाली श्रद्धालुओं की भारी भीड़ को देखते हुए श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए मंदिर का फर्श बहुत अच्छे तरीके से ठीक कराना जरूरी था।

शर्मा ने बताया कि मंदिर भले ही श्रद्धालुओं के लिए बंद हों लेकिन नम्बर के हिसाब से राजभोग और शयन भोग के गोस्वामी ठाकुर बांकेबिहारी महराज की सेवा पूजा विधिवत कर रहे हैं तथा सारे त्योहार और परंपराएं पूर्ववत ही हो रही हैं।

विदित रहे कि बांकेबिहारी मंदिर के दर्शन के लिए मंदिर प्रबंधन ने पिछले माह पत्र के माध्यम 31 जुलाई तक बंद किए जाने की बात कही थी लेकिन शुक्रवार शाम जारी पत्र के अनुसार 30 सितंबर तक आमजन के लिए प्रतिबंधित रहेंगे।

समूचे देश भर के श्रद्धालु जन अपने आराध्य श्री बिहारी जी के दर्शन के लिए भारी लालायित थे, सबको आस थी कि उन्हें जल्दी ही सांवले- सलोने ठाकुर जी के दीदार होंगे लेकिन शुक्रवार के आदेश ने उनको भारी निराश कर दिया है।

कोरोना ने 84 कोस ब्रजयात्रा भी की स्थगित

कोरोना महामारी के चलते 84 कोस की ब्रजयात्रा स्थगित कर दी गई है। सभी वैष्णव अपने घरों से प्रभु का स्मरण करें। शुक्रवार ब्रज यात्रा प्रबंधक व मीडिया प्रभारी सचिन चतुर्वेदी ने बताया कि इस वर्ष आयोजित होने वाली 84 कोस ब्रज यात्रा, जोकि पुष्टि मार्ग पंचम ग्रह से घाटकोपर कामां यात्रा अध्यक्ष 108 श्रीमुरलीधर जी (मिलन बाबा) और यात्रा नायक 108 श्रीजयदेव बाबा (बंटू राजा) के नेतृत्व में पुरुषोत्तम मास में 18 सितंबर से प्रस्तावित थी। इस यात्रा में देश-विदेश से हजारों वैष्णव श्रद्धालु शामिल होते, लेकिन वर्तमान विषम परिस्थितियों जो कि इस कोरोना महामारी से पैदा हुई हैं। इसलिए सभी की मंगल कामना के लिए ब्रजयात्रा आगामी समय के लिए स्थगित कर दी गई है।

From around the web