अशोकनगर: यूरिया की कालाबाजारी करने वालों को कलेक्टर करेंगे जिला बदर

 

अशोकनगर, 21 नवम्बर। जिले में रबी सीजन हेतु किसानों को पर्याप्त मात्रा में यूरिया की उपलब्धता सुनिश्चित कराई गई है। कलेक्टर अभय वर्मा का कहना है कि किसी भी व्यापारी द्वारा निर्धारित शासकीय मूल्य से अधिक की बोरी विक्रय की जाती है अथवा यूरिया के साथ अन्य सामग्री खरीदीने के लिए कृषकों को बाध्य किया जाता है तो संबंधित व्यापारी का लायसेंस निरस्त किया जाएगा। साथ ही सुसंगत विधि नियमों के तहत दण्डात्मक कार्यवाही के तहत जिला बदर एवं रासुका की कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि जिले के किसान चिंतित न हो तथा अनावश्यक रूप से यूरिया का भण्डारण न करें।

उन्होंने शनिवार को इसकी जानकारी देते हुए बताया कि जिले में रबी सीजन हेतु 11077 मैट्रिक टन यूरिया सहकारी एवं निजी क्षेत्र में किसानों को सेवा सहकारी समितियों एवं निजी विक्रेताओं के माध्यम से वितरण कराया जा रहा है। अभी तक सहकारी क्षेत्र से 3533 मैट्रिक टन एवं निजी क्षेत्र से 4840 मैट्रिक टन इस प्रकार कुल 8373 मैट्रिक टन का वितरण किया जा चुका है।

कलेक्टर अभय वर्मा ने बताया कि वर्तमान में जिले में 2704 मैट्रिक टन यूरिया उपलब्ध है तथा एक रेक नेशनल फर्टीलाईजर लिमिटेड की शीघ्र लगने वाली है। जिससे 1500 मेट्रिक टन यूरिया जिले को मिलेगा। साथ ही एक रेक नवम्बर माह के अंतिम सप्ताह में लगने की संभावना है। यूरिया का शासकीय मूल्य 267 रूपए प्रति बोरी है, जिसका वजन 45 किलोग्राम होता है। किसी भी व्यापारी द्वारा निर्धारित शासकीय मूल्य से अधिक की बोरी विक्रय की जाती है अथवा यूरिया के साथ अन्य सामग्री खरीदीने के लिए कृषकों को बाध्य किया जाता है तो संबंधित व्यापारी का लायसेंस निरस्त किया जाएगा। साथ ही सुसंगत विधि नियमों के तहत दण्डात्मक कार्यवाही के तहत जिला बदर एवं रासुका की कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि जिले के किसान चिंतित न हो तथा अनावश्यक रूप से यूरिया का भण्डारण न करें। आवश्यकता अनुसार यूरिया खरीदें जिससे सभी कृषकों को यूरिया समय पर सुविधा अनुसार उपलब्ध हो सके।

From around the web