मेरठ: बिजली विभाग के सहायक अभियन्ता की शिकायत

 
मेरठ। एमआरआई आधारित बिलिंग की अत्यन्त खराब प्रगति पर पांच सहायक अभियन्ता (मीटर), एवं लोड बढाने पर सीलिंग एडवाइस न करने पर एक सहायक अभियन्ता को प्रतिकूल प्रविष्टि दी गयी।
डिस्कॉम के मुख्यालय स्थित ऊर्जा भवन, विक्टोरिया पार्क, में एमडी आशुतोष निरंजन की अध्यक्षता एवं अरविन्द राजवेदी, निदेशक, संजय आनन्द जैन, मुख्य अभियन्ता की उपस्थिति में बैठक आहुत हुई। बैठक में बिजली विभाग के समस्त अधिशासी अभियन्ता (परीक्षण), समस्त सहायक अभियन्ता, (परीक्षण) बिलिंग एजेंसियों के प्रतिनिधियों द्वारा बैठक में प्रतिभाग किया गया। बैठक में एमआरआई आधारित बिलिंग की अत्यन्त खराब प्रगति पर प्रबन्ध निदेशक महोदय, द्वारा विनोद कुमार, सहायक अभियन्ता, (मीटर) विद्युत परीक्षण खण्ड। 5० कि०वा० से ऊपर की एम०आर०आई० एवं डबल मीटरिंग की अद्यतन स्थिति पर चर्चा की गयी। इस सम्बन्ध में श्री अरविन्द राजवेदी, निदेशक (वाणिज्य) द्वारा 5० किलोवाट एवं अधिक भार वाले उपभोक्ताओं की डबल मीटरिंग नही किये जाने पर आपत्ति व्यक्त की तथा अधिशासी अभियन्ता (परीक्षण) को कड़े निर्देश दिये कि 50 किलोवाट से अधिक उपभोक्ताओं की डबल मीटरिंग प्राथमिकता पर की जाये जिससे कि उपभोक्ताओं के परिसर के बाहर पोल पर लगे मीटर के विश्लेषण द्वारा बडे व संवेदनशील उपभोक्ताओं की विद्युत चोरी पकडी जा सके।
बैठक में एमडी आशुतोष निरंजन द्वारा 25 किलोवाट एवं अधिक भार के संयोजनों की शत-प्रतिशत एमआरआई आधारित बिलिंग करने के निर्देश दिये। इस सम्बन्ध में उन्होंने कहा कि जवाबदेही निर्धारित कर उत्तरदायित्व निर्धारित किया जायेगा तथा कार्य में शिथिलता बरतने पर कड़ी कार्यवाही की जायेगी। बैठक में संजय आनन्द जैन, मुख्य अभियन्ता (वाणिज्य), जेके सिंह अधीक्षण अभियन्ता, राजीव जैन, अधीक्षण अभियन्ता, आई पी सिंह तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारी/अधिकारिक गण उपस्थित रहे।

From around the web