अजमेर: दिल्ली से अजमेर के बीच इलेक्ट्रिक ट्रेन दिसंबर में चल सकती है

 

अजमेर, 21 नवम्बर। जयपुर से कनकपुरा, जयपुर से बस्सी और बांदीकुई से ढिगावड़ा के बीच इलेक्ट्रिफिकेशन का काम पूरा हो गया है। ऐसे में अब रेलवे विद्युतीकरण प्रशासन (कोर) ने जयपुर से इलेक्ट्रिक ट्रेनों का संचालन सुचारू करने के लिए सीआरएस को निरीक्षण के लिए प्रस्ताव भेजा है।

कोर के चीफ प्रोजेक्ट डायरेक्टर पीआर मीना ने बताया कि वेस्टर्न सर्किल के सीआरएस आरके शर्मा 23 नवंबर को सुबह 12:45 बजे मुंबई से जयपुर पहुंचेंगे। इसके 15 मिनट बाद ही वे आठ कोच की स्पेशल ट्रेन से जयपुर से बांदीकुई के लिए रवाना होंगे। जिसके बाद दोपहर सवा दो से शाम सवा छह तक बांदीकुई-ढिगावड़ा के बीच विद्युतीकरण के कार्यों का निरीक्षण करेंगे। 24 को सुबह 8 बजे स्पेशल ट्रेन से सीआरएस जयपुर से बस्सी के लिए रवाना होंगे। इस दौरान वे ट्रेन में ही 45 मिनट तक अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। 8:45 से शाम 4 बजे तक बस्सी से कनकपुरा के बीच निरीक्षण करेंगे। तो वहीं शाम 4:30 से 6:30 के बीच कनकपुरा-ढिगावड़ा और शाम 7 से 8:30 के बीच ढिगावड़ा-कनकपुरा तक इलेक्ट्रिक इंजन से स्पीड ट्रायल किया जाएगा। इस दौरान उनके साथ डीआरएम, एडिशनल डीआरएम और कोर के अधिकारी मौजूद रहेंगे।

हरी झंडी मिलना तय, दिसंबर में इलेक्ट्रिक ट्रेन का संचालन शुरू होगा

इन दोनों कार्यों को सीआरएस की हरी झंडी मिलना लगभग तय है। ऐसे में ग्रीन सिग्नल मिलते ही रेलवे विद्युतीकरण संगठन दोनों ट्रैक पर ट्रेन शुरू करने के लिए मंडल रेल प्रशासन को ट्रैक सौंप देगा। ऐसे में अगर सबकुछ ठीक रहा तो दिसंबर से जयपुर से दिल्ली और जयपुर से अजमेर तक इलेक्ट्रिक ट्रेनें शुरू हो जाएंगी।

From around the web