तालाबों पर अवैध कब्जा करने वालों को चिन्हित कर अतिक्रमण हटाया जाए , लेखपाल देंगे अतिक्रमण मुक्ति का प्रमाणपत्र -डीएम

 

सहारनपुर। जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने अवैध कब्जें वाले तालाबों को चिन्हित कर अतिक्रमण हटाये जाने के निर्देश दिये है। उन्होंने सभी उपजिलाधिकारियों व तहसीलदारों को निर्देशित किया है कि वह अपने इलाके में अवैध कब्जे वाले तालाबों को चिन्हित कर अभियान चलाकर अतिक्रमण हटवाएं। उन्होंने कहा कि जिस लेखपाल के क्षेत्र में अगर अतिक्रमण हुआ तो उनके विरूद्ध कार्रवाही की जायेंगी। उन्होंने तालाबों के सौंदर्यकरण कराये जाने के भी निर्देश दिए। डीएम अखिलेश सिंह आज कलेक्ट्रेट सभागार में तालाबों से अतिक्रमण हटाने, सौन्दर्यीकरण तथा तालाबों के प्रदूषण को रोकने के संबंध में समीक्षा कर रहे थे। उन्होेने अधिकारियों को निर्देश दिये कि जनपद में सभी तालाबों को चिन्हित कर उनमे पानी की गुणवत्ता सुनिश्चित करें। उन्होेने कहा कि समस्त उप जिलाधिकारी अपने-अपने गांव की सूची तैयार कर तालाबों के पानी की सैम्पलिंग कराना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि यह भी सुनिश्चित किया जाये कि कंही भी तालाब पर अतिक्रमण न हो। उन्होने निर्देश दिये कि सभी खण्ड विकास अधिकारियों तथा पंचायत सेक्रेटरी की भी जिम्मेदारी तय की जाये। उन्होंने कहा कि शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में तालाबों से जल संरक्षण के साथ इससे कई फायदे होते है।

जिलाधिकारी ने कहा कि प्रत्येक हलका लेखपाल से यह भी प्रमाण पत्र लिया जाए कि उसके हलके में किसी भी तालाब पर अतिक्रमण नहीं हुआ है। यदि किसी तालाब पर अतिक्रमण है और उसने अतिक्रमण करने वाले के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराकर कार्रवाई की जाए। उन्होंन कहा कि सभी तालाबों पर पत्थर या सीमेंट से बोर्ड लगाकर लिखवाया जाए कि यह सरकारी तालाब है। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि राजस्व गांव वार खतौनी में दर्ज तालाबों के अतिक्रमण मुक्त है, इसका विवरण भी उपलब्ध कराया जाए। बैठक में अपर जिलाधिकारी प्रशासन एस0बी0सिंह, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व विनोद कुमार, ज्वाईंट मजिस्ट्रेट हिमांशु नागपाल, उप जिलाधिकारी सदर अनिल कुमार सिंह, उप जिलाधिकारी बेहट दीप्ति देव यादव, परियोजना निदेशक दुष्यन्त कुमार तथा संबंधित विभागों के अधिकारीगण मौजूद रहे।

From around the web