पूर्वांचल में चीनी मिलों में पेराई शुरू करने की कवायद तेज, सभी मिलों ने घोषित की तारीखें

 

गोरखपुर। पूर्वांचल के गोरखपुर, बस्ती और आजमगढ़ मण्डलों के अलावा गोंद जिले में स्थित चीनी मिलों को शुरू करने की कवायद तेज हो गयी है। चीनी मिलों ने इसकी तैयारियां लगभग पूर्ण कर ली हैं और संभावित तिथियों की घोषणा भी कर चुकीं हैं।

यह बात अलग है कि इनमें तकरीबन आधा दर्जन चीनी मिलों में पेराई कार्य शुरू हो चुका है। जिन चीनी मिलों ने गन्ना पेराई शुरू किया है उनमें महराजगंज जिले की सिसवां चीनी मिल ने तत्परता दिखाते हुए पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष 09 दिन पहले से ही पेराई कार्य शुरू किया है। पिछले वर्ष इस मिल में 29 नवम्बर को पेराई शुरू हुआ था, जबकि इस वर्ष पेराई कार्य 20 नवम्बर को शूरू कर दिया गया।

इसी तरह से गोंडा की बभनान स्थित चीनी मिल ने पिछले वर्ष की तुलना में 03 दिन पहले यानी 24 नवम्बर की अपेक्षा 21 नवम्बर, कुशीनगर की रामकोला (पी.) ने चार दिन पहले यानी 15 नवम्बर की जगह 09 नवम्बर, कप्तानगंज ने 16 दिन पूर्व यानी 07 दिसंबर की जगह 21 नवम्बर को और सठियांव स्थित चीनी मिल ने पिछले वर्ष की तुलना में चार दिन देर यानी 17 नवम्बर की जगह 21 नवम्बर को शुरू किया है। चीनी मिलों द्वारा पेराई कार्य शुरू करने से किसानों को राहत मिलनी शुरू हो गयी है। हालांकि अधिक बरसात और गन्ना का कैंसर कही जाने वाली रेडरॉट बीमारी से परेशान गन्ना किसानों ने धैर्य खो दिया है और तौल पर्ची के देर से आने की वजह से परेशान हैं।

इस तिथि को चालू होगी ये चीनी मिल

- खड्डा 25 नवम्बर

- घोषी 25 नवम्बर

- हाटा 26 नवम्बर

- मुंडेरवा 28 नवम्बर

-पिपराइच 29 नवम्बर

- सेवरही 30 नवम्बर

- प्रतापपुर 01 दिसंबर

- रुधौली 07 दिसंबर

From around the web