भारत में फुटबॉल के बुनियादी ढांचे में तेजी से सुधार आया है : नासिर अल खतर

 

दोहा, 21 नवंबर। फीफा विश्व कप कतर 2022 आयोजन समिति के सीईओ नासिर अल खतर का मानना है कि 2017 में फीफा अंडर -17 विश्व कप की मेजबानी के बाद भारत में फुटबॉल के बुनियादी ढांचे में तेजी से सुधार हो रहा है। फीफा विश्व कप कतर 2022 अभी दो साल दूर है। यह पहली बार होगा जब फीफा विश्व कप की मेजबानी पश्चिम एशिया में की जाएगी।

एएफसी की आधिकारिक वेबसाइट ने खतर के हवाले से कहा,"भारत में फुटबॉल भी बढ़ रहा है, और 2017 में फीफा अंडर -17 विश्व कप की मेजबानी के बाद बुनियादी ढांचे में भी तेजी से सुधार हो रहा है। अगले साल से एएफसी चैंपियंस लीग ग्रुप चरण में नियमित रूप से हिस्सा लेने के साथ ही भारतीय क्लबों के साथ भारतीय प्रशंसकों की भी फुटबॉल में रुचि बेहतर होने की संभावना है।"

कतर 2022 की दो मुख्य विरासत हैं। पहली जापान, चीन, कोरिया गणराज्य और भारत जैसे भारी कॉर्पोरेट संरक्षण के साथ लीग के लिए वातानुकूलित स्टेडियम हैं। दूसरी फुटबॉल के विकास के लिए मॉड्यूलर है, जो फीफा के अनुरूप प्रशिक्षण का आधार है।

खतर ने कहा, "जब हम टूर्नामेंट के लिए बोली लगाते हैं, तो हम यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध होते हैं कि यह एक ऐसा है जो कतर, एशिया और दुनिया के लिए एक स्थायी विरासत छोड़ता है, और खेल के विकास का समर्थन करता है। इसमें कोई संदेह नहीं है कि जो नवीन शीतलन तकनीक हमने विकसित की है वह बेहतर है, जिसका सकारात्मक प्रभाव पहले से ही महसूस किया जा रहा है।"

उन्होंने कहा, "उदाहरण के लिए, हाल ही में सितंबर में कतर में तापमान 38 डिग्री सेंटीग्रेड के करीब होने के बावजूद 2020 एएफसी चैंपियंस लीग को फिर से शुरू किया गया, जबकि टूर्नामेंट के अंदर का तापमान 21-22 डिग्री के बीच था।"

तीन स्टेडियमों जैसे कि खलीफा इंटरनेशनल, अल जनाब और एजुकेशन सिटी का उद्घाटन पहले ही कतर में फीफा विश्व कप 2022 से पहले हो चुका है। चौथा स्टेडियम, अल रेयान, 2022 फाइनल से दो साल पहले 18 दिसंबर को लॉन्च किया जाना है। सभी शेष स्टेडियम और सहायक टूर्नामेंट बुनियादी ढांचे को 21 नवंबर 2022 से पहले पूरा किया जाएगा।

From around the web