पूर्व विधायक कामिनीबा राठौड़ ने कांग्रेस छोड़ी, भाजपा में शामिल होने की संभावना

 
क
गांधीनगर। देहगाम विधानसभा क्षेत्र से पूर्व विधायक कामिनीबा राठौड़ ने आगामी गुजरात विधानसभा चुनाव में निर्दलीय उम्मीदवारी वापस लेने के बाद मंगलवार को कांग्रेस पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। इससे पहले, उन्होंने कांग्रेस राज्य प्रमुख जगदीश ठाकोर को अपने फैसले का कोई कारण बताए बिना अपना इस्तीफा सौंप दिया।

राठौड़ ने मीडिया से कहा कि वह उचित समय पर तय करेंगी कि उन्हें किसी राजनीतिक दल में शामिल होना है या नहीं।

उन्होंने 2012 से 2017 तक राज्य विधानसभा में पार्टी का प्रतिनिधित्व किया और 2012 में पार्टी के टिकट पर केवल 2,297 मतों के अंतर से चुनाव जीता। लेकिन वह 2017 के चुनाव में भाजपा उम्मीदवार से 10,860 मतों के अंतर से हार गईं।

5 दिसंबर को होने वाले चुनाव में, वह विधानसभा सीट की दावेदार थीं, लेकिन पार्टी ने उन्हें टिकट देने से इनकार कर दिया।

बाद में राठौड़ ने आरोप लगाया कि पार्टी के नेताओं ने 1 करोड़ रुपये में टिकट बेच दिए और उन्होंने एक ऑडियो क्लिप भी जारी किया, जिसमें उनके साथ बातचीत के बारे में बताया गया। इसमें वह टिकट के लिए बातचीत कर रही हैं और पैसे देने के लिए तैयार हैं।

पार्टी के राजनीतिक सूत्रों ने आईएएनएस को बताया कि भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के समझाने और पार्टी में शामिल होने की पेशकश के बाद उन्होंने भाजपा उम्मीदवार के पक्ष में पर्चा वापस ले लिया है।

इस बीच, मेहसाणा से कांग्रेस नेता ए.जे. पटेल ने भी पार्टी छोड़ दी है और उनके भी बीजेपी में शामिल होने की संभावना है।

From around the web