रांची शहर में व्यवसायी को अपराधियों ने गोलियों से भूना, लोगों में गुस्सा

 
न
रांची। रांची के जाने-माने व्यवसायी कमल भूषण पर सोमवार दोपहर अपराधियों ने शहर के उपहार सिनेमा कॉम्प्लेक्स के पास गोलियों की बौछार कर दी। उन्होंने थोड़ी देर बाद ही अस्पताल में दम तोड़ दिया। शहर के व्यस्त इलाके में दिनदहाड़े हुई इस वारदात को लेकर व्यवसायी के परिजनों और उनके करीबियों में भारी गुस्सा है। घटना की जानकारी मिलते ही रांची के एसएसपी एसके झा और सिटी एसपी अंशुमन सहित कई पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। एसएसपी ने दावा किया है कि हत्यारे जल्द पकड़े जायेंगे। रांची के मधुकम इलाके के रहने वाले कमल भूषण जमीन और प्रॉपर्टी के साथ-साथ कई अन्य कारोबार से जुड़े हुए थे। वह भूषण एसोसिएट्स नामक कंपनी चलाते थे।बताया गया कि वह सोमवार अपनी कार से दोपहर देवी मंडप रोड में किसी से मिलने जा रहे थे, तभी बाइक सवार दो अपराधियों ने उन्हें निशाना बनाते हुए पांच गोलियां चलायीं। कमल भूषण ने भी अपनी लाइसेंसी पिस्टल निकालकर गोली चलानी चाही, लेकिन वह कार में ही गिर गयी। उन्हें तत्काल देवकमल हॉस्पिटल ले जाया गया, लेकिन इलाज शुरू होने के पहले ही उनकी मौत हो गयी। बाद में उनका शव पोस्टमार्टम के लिए रिम्स ले जाया गया। इधर अपराधी दूसरे की स्कूटी लेकर मौका ए वारदात से फरार हो गये।

कुछ दिन पहले ही कमल भूषण की बेटी और दामाद पर गोलियां चली थीं। तब बेटी ने पिता कमल भूषण पर ही जानलेवा हमले का आरोप लगाया था। बेटी का कहना था कि अंतरजातीय विवाह करने की वजह से नाराज पिता उसकी और उसके पति की जान लेना चाहते हैं। पुलिस का कहना है कि हत्या के पीछे जमीन-जायदाद या आपसी विवाद हो सकता है। जल्द ही मामले का खुलासा कर लिया जायेगा। फिलहाल पुलिस आसपास के सीसीटीवी फुटेज को खंगाल रही है।

घटना के बाद कारोबारी कमल भूषण के सैकड़ों परिचित रिम्स पहुंचे और आरोपी को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने की मांग करने लगे। मृतक के बेटे पवन आर्यन ने आरोप लगाया है कि राहुल कुजूर नामक शख्स ने इस वारदात को अंजाम दिया है।

इधर घटना के बाद भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी भी रिम्स पहुंचे। उन्होंने कहा कि झारखंड में कानून-व्यवस्था ध्वस्त हो गयी है। अपराधी दिनदहाड़े वारदात को अंजाम दे रहे हैं। शासन तंत्र इनसे बेपरवाह है।

From around the web