कोलकाता: जादूगर के पास सीआईएसएफ जवान ने की अंधाधुंध फायरिंग, एक की मौत

 
कोलकाता, 06 अगस्त (हि.स.)। पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में स्थित प्रसिद्ध जादूगर के पास सुरक्षा ड्यूटी में तैनात केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के जवान ने अंधाधुंध फायरिंग की है। उसने ड्यूटी पर तैनात अपने सहकर्मी आर के सारंगी पर लक्ष्य कर 15 राउंड फायरिंग की। गोली लगने की वजह से सारंगी खून से लथपथ होकर मौके पर ही गिर पड़े थे। एसएसकेएम अस्पताल ले जाने पर चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। फायरिंग करने वाले जवान की पहचान अक्षय कुमार मिश्र के तौर पर हुई है। वह हेड कांस्टेबल है और वह भी मूलरूप से ओडिशा का ही रहने वाला है। इसके अलावा सुबीर घोष नाम का एक अन्य पुलिस का जवान भी इसमें गंभीर रूप से घायल हुआ है। सूचना मिलने के बाद कोलकाता पुलिस आयुक्त विनीत गोयल और संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) मुरलीधर शर्मा मौके पर पहुंचे। गोयल ने मौत की पुष्टि करते हुए बताया कि फायरिंग की घटना में एक जवान की मौत हुई है और एक अन्य घायल है। कम से कम 15 राउंड की फायरिंग हुई है। हालात को संभालने के लिए कमांडो ऑपरेशन चलाना पड़ा है। फायरिंग करने वाले जवान को समझा-बुझाकर करीब दो घंटे बाद आत्मसमर्पण कराया गया है। उसे हिरासत में ले लिया गया है।  स्थानीय सूत्रों ने बताया है कि शाम 6:30 बजे के बाद फायरिंग शुरू कर दी। सामने खड़ी पुलिस लाइन पर भी फायरिंग हुई जिसमें पुलिस का जवान घायल हुआ है। काफी समझाने बुझाने के बावजूद वह बंदूक नहीं छोड़ रहा था जिसके बाद पुलिस के शीर्ष अधिकारियों ने उसे काफी समझाया। रात 8:30 बजे उसने आत्मसमर्पण किया है उसके बाद उसे हिरासत में ले लिया गया है। बताया गया है कि उसकी अपने सहकर्मी सारंगी से व्यक्तिगत दुश्मनी थी और कई बातों को लेकर विवाद था। इसी वजह से उसने अपने एके-47 राइफल से फायरिंग की है।
कोलकाता। पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में स्थित प्रसिद्ध जादूगर के पास सुरक्षा ड्यूटी में तैनात केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के जवान ने अंधाधुंध फायरिंग की है। उसने ड्यूटी पर तैनात अपने सहकर्मी आर के सारंगी पर लक्ष्य कर 15 राउंड फायरिंग की। गोली लगने की वजह से सारंगी खून से लथपथ होकर मौके पर ही गिर पड़े थे। एसएसकेएम अस्पताल ले जाने पर चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। फायरिंग करने वाले जवान की पहचान अक्षय कुमार मिश्र के तौर पर हुई है। वह हेड कांस्टेबल है और वह भी मूलरूप से ओडिशा का ही रहने वाला है। इसके अलावा सुबीर घोष नाम का एक अन्य पुलिस का जवान भी इसमें गंभीर रूप से घायल हुआ है। सूचना मिलने के बाद कोलकाता पुलिस आयुक्त विनीत गोयल और संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) मुरलीधर शर्मा मौके पर पहुंचे। गोयल ने मौत की पुष्टि करते हुए बताया कि फायरिंग की घटना में एक जवान की मौत हुई है और एक अन्य घायल है। कम से कम 15 राउंड की फायरिंग हुई है। हालात को संभालने के लिए कमांडो ऑपरेशन चलाना पड़ा है। फायरिंग करने वाले जवान को समझा-बुझाकर करीब दो घंटे बाद आत्मसमर्पण कराया गया है। उसे हिरासत में ले लिया गया है।

स्थानीय सूत्रों ने बताया है कि शनिवार शाम 6:30 बजे के बाद फायरिंग शुरू कर दी। सामने खड़ी पुलिस लाइन पर भी फायरिंग हुई जिसमें पुलिस का जवान घायल हुआ है। काफी समझाने बुझाने के बावजूद वह बंदूक नहीं छोड़ रहा था जिसके बाद पुलिस के शीर्ष अधिकारियों ने उसे काफी समझाया। रात 8:30 बजे उसने आत्मसमर्पण किया है उसके बाद उसे हिरासत में ले लिया गया है। बताया गया है कि उसकी अपने सहकर्मी सारंगी से व्यक्तिगत दुश्मनी थी और कई बातों को लेकर विवाद था। इसी वजह से उसने अपने एके-47 राइफल से फायरिंग की है।

From around the web