छत्तीसगढ़ -30 करोड़ रुपये की ठगी करने के मामले में पीएसीएल चिटफंड कंपनी का संचालक गिरफ्तार

 
्ुि

रायपुर /सूरजपुर । सरगुजा संभाग के सूरजपुर जिले के 11 हजार निवेशकों से, छह साल पूर्व रकम दोगुना करने के नाम पर करीब 30 करोड़ रुपये की ठगी करने के मामले में फरार, पीएसीएल चिटफंड कंपनी के एक संचालक को कोतवाली पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया है।इस मामले में तीन आरोपितों डायरेक्टर निर्मल सिंह भंगू, त्रिलोचन सिंह व सुखदेव सिंह को पूर्व में ही गिरफ्तार किया जा चुका है।

मुख्यमंत्री ने पुलिस महानिदेशक छत्तीसगढ़ अशोक जुनेजा व पुलिस महानिरीक्षक सरगुजा रेंज अजय कुमार यादव को चिटफण्ड कंपनी के विरूद्व लंबित मामलों के निराकरण में तेजी लाने के निर्देश दिए थे।

पुलिस के अनुसार वर्ष 2016 में ग्राम केतका, थाना सूरजपुर निवासी कमल सिंह केराम एवं ग्राम गंगोटी, चौकी बसदेई निवासी रनमेत बाई ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि आरोपी सुखदेव सिंह निवासी जलियाकलान थाना चमकौर साहेब जिला रोपड़ पंजाब एवं उसके अन्य साथियों के द्वारा पैसा दोगुना करने का प्रलोभन देकर रुपये जमा कराया गया। जो मैच्यूरिटी अवधि पूर्ण होने पर भी पैसा वापस नहीं कर धोखाधड़ी की गई। दोनों ही मामलों की रिपोर्ट पर थाना सूरजपुर में धारा 420, 120 बी, 4,5,6 इनामी चिट और धन परिचालन अधिनियम 1978, छत्तीसगढ़ निक्षेपकों के हितों की संरक्षण अधिनियम 2005 की धारा 10 पंजीबद्ध कर विवेचना की गई। पूर्व में इस कंपनी के डायरेक्टर निर्मल सिंह भंगू, त्रिलोचन सिंह व सुखदेव सिंह को गिरफ्तार किया जा चुका है।

विवेचना के दौरान पुलिस को जानकारी मिली कि पीएसीएल कंपनी का डायरेक्टर जोगेन्दर टाइगर वर्तमान में थाना कोतवाली जिला कवर्धा में पंजीबद्ध मामले में गिरफ्तार होकर जिला जेल कवर्धा में निरूद्ध है। इसके बाद थाना सूरजपुर की पुलिस ने न्यायालय से प्रोटेक्शन वारंट प्राप्त कर आरोपित को कवर्धा जेल से सूरजपुर लाया गया और पूछताछ के बाद दोनों मामलों में कंपनी के डायरेक्टर आरोपित जोगिंदर टाइगर पिता रघुवीर सिंह उम्र 66 वर्ष चंडीगढ़ पंजाब फनबिल, थाना सदर, जिला पटियाला पंजाब को गिरफ्तार कर न्यायालय सूरजपुर में पेश किया गया।

From around the web