पंजाब के सीएम संबंधी विमान विवाद पर सिंधिया बोले, अनुरोध पर जरूर गौर करूंगा

 
ा568
नई दिल्ली| पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को विमान से उतारे जाने संबंधी विवाद के बीच नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंगलवार को कहा कि वह भेजे गए अनुरोध के आधार पर इस मामले को देखेंगे। मंत्री ने यहां संवाददाताओं से कहा, "घटना अंतर्राष्ट्रीय धरती पर हुई थी। हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि हम तथ्यों की पुष्टि करें। डेटा मुहैया कराना लुफ्थांसा पर निर्भर है। मुझे भेजे गए अनुरोध पर मैं निश्चित रूप से गौर करूंगा।"

आम आदमी पार्टी (आप) पहले ही विपक्ष के इस आरोप को खारिज कर चुकी है कि मान को नशे की हालत में विमान से उतार दिया गया था और कहा था कि विपक्ष के पास बात करने के लिए कोई मुद्दा नहीं है। पंजाब के मुख्यमंत्री तबीयत खराब महसूस होने पर विमान से उतर गए थे।

इससे पहले 19 सितंबर को अकाली दल के नेता सुखबीर सिंह बादल ने ट्विटर पर पोस्ट किया था, "मीडिया की खबरों में सहयात्रियों के हवाले से कहा गया है कि पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को लुफ्थांसा की एक फ्लाइट से उतारा गया था, क्योंकि बहुत नशे में होने के कारण वह चल नहीं पा रहे थे। उनके कारण उड़ान में 4 घंटे की देरी हुई। वह आप के राष्ट्रीय सम्मेलन में भाग लेने से भी चूक गए। इस खबर ने दुनिया भर में पंजाबियों को शर्मिदा किया है।"

बादल ने ट्वीट किया था, "सीएम भगवंत मान से जुड़ी खबरों पर पंजाब सरकार की चुप्पी हैरान करने वाली है। अरविंद केजरीवाल को इस मुद्दे पर सफाई देने की जरूरत है। भारत सरकार को इस पर कदम उठाना चाहिए, क्योंकि यह पंजाबी और राष्ट्रीय गौरव से जुड़ा मुद्दा है। अगर मुख्यमंत्री को विमान से उतारा गया, तो भारत सरकार को यह मुद्दा अपने जर्मन समकक्ष के समक्ष उठाना चाहिए।"
 

From around the web