सेंट्रल बैंक फेडरल रिजर्व के ब्याज दरों में इजाफे से कच्चे तेल की कीमत में गिरावट

 
ी्ूि

नई दिल्ली । अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में नरमी का रुख जारी है। अमेरिकी सेंट्रल बैंक फेडरल रिजर्व के ब्याज दरों में इजाफे का असर कच्चे तेल की कीमत पर भी पड़ा है। ब्रेंट क्रूड एक डॉलर की गिरावट के साथ 91 डॉलर प्रति बैरल के करीब ट्रेंड करा रहा है, जबकि यूएस वेस्ट टेक्सस इंटरमीडिएट (डब्ल्यूटीआई) क्रूड 2 डॉलर घटकर 84 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा है। इसके बावजूद देश के चार महानगरों में पेट्रोल-डीजल के दाम स्थिर हैं।

इंडियन ऑयल की वेबसाइट के मुताबिक गुरुवार दिल्ली में पेट्रोल 96.72 रुपये और डीजल 89.62 रुपये प्रति लीटर है। मुंबई में पेट्रोल 106.31 रुपये प्रति लीटर और डीजल का भाव 94.27 रुपये प्रति लीटर है। कोलकाता में पेट्रोल 106.03 रुपये प्रति लीटर और डीजल 92.76 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है। इसी तरह चेन्नई में पेट्रोल 102.63 रुपये प्रति लीटर और डीजल 94.24 रुपये प्रति लीटर पर मिल रहा है। हालांकि, यूपी और बिहार में दोनों ईंधनों की कीमतों में कुछ बदलाव हुआ है।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में शुरुआती कारोबार के दौरान ब्रेंट क्रूड 90.31 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा है, जबकि यूएस वेस्ट टेक्सस इंटरमीडिएट (डब्ल्यूटीआई) क्रूड 83.35 डॉलर प्रति बैरल पर ट्रेंड कर रहा है। अमेरिका फेड रिजर्व के ब्याज दरों में बढ़ोतरी के कारण कच्चे तेल की कीमत में गिरावट आई है।

उल्लेखनीय है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत इस साल 139 डॉलर प्रति बैरल का स्तर छूने के बाद अभी क्रूड ऑयल के भाव में 35 से 36 फीसदी तक की गिरावट आ चुकी है, लेकिन देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतें स्थिर बनी हुई है। सार्वजनिक क्षेत्र के तेल कंपनियों ने 22 मई के बाद से दोनों ईंधनों की कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया है।

From around the web