स्टार्टअप इंडिया ने मार्ग पोर्टल पर पंजीकरण के लिए स्टार्टअप ऐप किया लॉन्च

 
स्टार्टअप इंडिया ने मार्ग पोर्टल पर पंजीकरण के लिए स्टार्टअप ऐप किया लॉन्च
नई दिल्ली। सरकार देश में बढ़ते स्टार्टअप कल्चर को बढ़ावा देने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। स्टार्टअप को मजबूत बनाने के साथ इसमें तेजी लाने के लिए वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के तहत उद्योग एवं आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (डीपीआईआईटी) ने स्टार्टअप इंडिया ने नेशनल मेंटरशिप प्लेटफॉर्म मार्ग पोर्टल पर पंजीकरण के लिए स्टार्टअप ऐप लॉन्च किया है।

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने बुधवार को जारी एक बयान में यह जानकारी दी। मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले डीपीआईआईटी ने देशभर में काम करने वाले स्टार्टअप के लिए एक पोर्टल बनाया है। इस पोर्टल पर पंजीकरण को आसान बनाने के लिए इस ऐप को लॉन्च किया गया है। दरअसल, दुनिया में तीसरे नंबर पर काबिज भारतीय स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र को बढ़ावा देने के लिए मार्ग पोर्टल की शुरुआत की गई है।

डीपीआईआईटी के मुताबिक यह पोर्टल देशभर के स्टार्टअप को कई तरह की सुविधाएं प्रदान करेगा, जिसमें उन्हें एक्सपर्ट ओपिनियन से लेकर निवेश करने वालों की जानकारी आसानी से मिल सकेगी। यह देशभर के सभी स्टार्टअप के लिए भारत सरकार की ओर से एक मेंटरशिप प्रोग्राम है, जिसका कोई भी फायदा उठा सकता है। मौजूदा समय में भारत का स्टार्टअप सिस्टम विश्व का तीसरा सबसे बड़ा स्टार्टअप उद्योग है, जिसमें अलग-अलग तरह के क्षेत्रों में हजारों लोग काम कर रहे हैं।

केंद्र सरकार ने स्टार्टअप को सपोर्ट करने के लिए मार्ग पोर्टल की शुरुआत की है, जिसमें मेंटरशिप, सलाह, सहायता, लचीलापन और ग्रोथ शामिल है। इस पोर्टल का मकसद देशभर के स्टार्टअप को अलग-अलग तरह की सुविधाएं प्रदान करना है। मार्ग पोर्टल का दूसरा बड़ा मकसद एक औपचारिक प्लेटफॉर्म बनाते हुए देश में काम कर रहे मेंटर और मेंटी के बीच में संवाद स्थापित करना है। सरकार का उद्देश्य सभी तरह के स्टार्टअप को एक्सपर्ट सहायाता मुहैया करना है, ताकि वो तेजी से आगे बढ़ सके। इसके अलावा वाणिज्य मंत्रालय उन्हें आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस से जुड़ी सहायता भी प्रदान करने की तैयारी कर रहा है।

मार्ग पोर्टल तीन चरणों में सक्रिय होगा, जिसमें पहले चरण में मेंटर को लाया जाएगा। दूसरे चरण में इसमें स्टार्टअप को लाया गया है, जिसे 14 नवम्बर से शुरू कर दिया गया है। इसके तीसरे चरण में जब स्टार्टअप को मेंटर मैच हो जाएगा। इसके लिए डीपीआईआईटी ने ऑनबोर्डिंग को भी शुरू कर दिया है। मौजूदा समय में देश में 82000 स्टार्टअप हैं, जिसमें डीपीआईआईटी से रिकॉगनाइज और 107 यूनीकॉर्न भी शामिल हैं।

From around the web