द्रमुक नेता ए. राजा को 'धमकी' देने के आरोप में भाजपा नेता गिरफ्तार

 
न
चेन्नई। द्रमुक नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री ए. राजा को धमकी देने के आरोप में कोयंबटूर के भाजपा अध्यक्ष बालाजी उथमरासामी को पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया।

द्रविड़ कड़गम नेता के. वीरमणि को सम्मानित करने के लिए आयोजित एक समारोह के दौरान भाजपा नेता ने ए.राजा को हिंदू धर्म के खिलाफ टिप्पणी पर धमकी दी थी।

सोमवार को भी राजा सनातन धर्म के खिलाफ बयान दिया था और कथित तौर पर कहा था, "केवल उच्च जाति के हिंदू सनातन धर्म के बारे में बोलते हैं। यह मनुस्मृति पर आधारित है जो पिछड़े वर्गो को शूद्र कहता है।"

भाजपा नेता ने राजा को बिना पुलिस एस्कॉर्ट के कोयंबटूर में कदम रखने की चुनौती दी थी।

बालाजी उथमरासामी ने भाषण में कहा था, "मैं द्रमुक को चुनौती देता हूं कि ए. राजा को कहीं से ढूंढकर लाए और फिर से बोलने को कहे, आप सनातन धर्म के बारे में क्या जानते हैं, संवेदनहीन ..।"

थानथाई पेरियार द्रविड़ कड़गम के नेताओं ने बालाजी उथामारासामी के खिलाफ पीलामेडु पुलिस स्टेशन में एक याचिका दायर की थी, जिसमें कहा गया था कि उन्होंने पूर्व केंद्रीय मंत्री ए. राजा के साथ-साथ तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन और इन नेताओं के साथ-साथ द्रविड़ आंदोलन के दिवंगत विचारक ई.वी. रामासामी नायकर उर्फ थंथई पेरियार का भी अपमान किया।

उथामारासामी को बुधवार सुबह पूछताछ के लिए पीलामेडु पुलिस स्टेशन बुलाया गया और बाद में गिरफ्तार कर लिया गया। पार्टी जिलाध्यक्ष की गिरफ्तारी के विरोध में भाजपा कार्यकर्ता बड़ी संख्या में थाने पहुंचे।

हिंदू मुन्नानी ने ए. राजा के संसदीय क्षेत्र नीलगिरि में हिंदू धर्म के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी को लेकर हड़ताल का आह्वान किया था। नीलगिरि में लगभग सभी दुकानों के बंद होने के साथ हड़ताल एक बड़ी सफलता थी और उधगमंडलम (ऊटी) में पचास प्रतिशत दुकानें और प्रतिष्ठान भी बंद हो गए। बंद के कारण कई विदेशी और घरेलू पर्यटक फंसे हुए थे।
 

From around the web