गौतम अडाणी जल्द बनेंगे NDTV के मालिक:मीडिया फर्म में 26% एडिशनल हिस्सेदारी के लिए आज खुला ओपन ऑफर

 
ू

नई दिल्ली। दिल्ली में मीडिया फर्म टेलीविजन (NDTV) में बाजार से ऐडिशनल 26% हिस्सेदारी हासिल करने के लिए अडाणी ग्रुप का ओपन ऑफर आज यानी मंगलवार खुला है। जिसमें मार्केट रेगुलेटर सिक्योरिटी एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (सेबी) ने 7 नवंबर को इस ओपन ऑफर को मंजूरी दी थी।

आपको बता दें कि अडाणी ग्रुप ने अगस्त में NDTV की 29.18% हिस्सेदारी खरीदी थी। जिसमें अडानी ग्रुप फर्मों की ओर से ऑफर को मैनेज करने वाली फर्म जेएम फाइनेंशियल के एक नोटिस में कहा गया है कि ऑफर के लिए 294 रुपए प्रति शेयर का प्राइस बैंड तय किया गया है। ये 22 नवंबर को खुलेगा और 5 दिसंबर को बंद होगा। ये ओपन ऑफर 492.81 करोड़ रुपए का है। अगर ये ओपन ऑफर पूरी तरह सब्सक्राइब हो जाता है, तो अडाणी ग्रुप की NDTV में टोटल हिस्सेदारी 55.18% हो जाएगी।

23 अगस्त को अडाणी ग्रुप ने VCPL के अधिग्रहण के जरिए NDTV में 29.18% हिस्सेदारी हासिल की थी, जिसकी RRPR होल्डिंग में 99.99% हिस्सेदारी है। इसके बाद अडाणी ग्रुप की फर्मों - विश्वप्रधान कमर्शियल प्राइवेट लिमिटेड (VCPL) ने AMG मीडिया नेटवर्क्स और अडाणी एंटरप्राइजेज के साथ ऐडिशनल 26% हासिल करने का प्रपोजल रखा है।

NDTV में 29.18% हिस्सेदारी हासिल करने की घोषणा के बाद, NDTV ने कहा था कि यह सौदा सेबी की अनुमति के बिना आगे नहीं बढ़ सकता। उनका कहना था कि 27 नवंबर 2020 को पारित एक आदेश में सेबी ने NDTV के फाउंडर - राधिका और प्रणय रॉय को 2 साल के लिए सिक्योरिटी मार्केट से बैन कर दिया था। यह बैन 26 नवंबर 2022 को खत्म होगा।

हालांकि, अडानी ग्रुप ने NDTV के इस दावे को खारिज कर दिया था। उन्होंने कहा प्रमोटर यूनिट RRPR होल्डिंग रेगुलेटर के उस आदेश का हिस्सा नहीं है, जिसमें फाउंडर प्रमोटर प्रणय और राधिका रॉय को सिक्योरिटी मार्केट में ट्रेडिंग से रोका गया है। VCPL ने कहा था कि RRPR 27 नवंबर, 2020 के सेबी के आदेश का पक्षकार नहीं है और प्रतिबंध इस पर लागू नहीं होते हैं।

From around the web