अवैध रूप से चल रहे मदरसा को पुलिस ने जमींदोज किया, जिहादी गतिविधियों में संलिप्तता का आरोप

 
asdv

असम। मोरीगांव जिला के मैराबारी में अवैध रूप से चल रहे जमीउल हुदा नामक निजी मदरसा को जिहादी गतिविधियों में लिप्त होने के आरोप में पुलिस ने बुलडोजर के जरिए गुरुवार सुबह जमींदोज कर दिया। गत 28 जुलाई को मदरसे को सील किया गया था।

उल्लेखनीय है कि 28 जुलाई को मदरसा के मुफ्ती मुस्तफा अहमद समेत 8 जिहादी और उनके स्लीपर सेल के सदस्यों को गिरफ्तार किया गया था। जिहादी गतिविधियों से संबंधित तथ्यों को नष्ट करने के आरोप में मुफ्ती की पत्नी जस्मिना खातून और मुफ्ती के भाई जकारिया अहमद को पुलिस ने आज गिरफ्तार किया है।

पुलिस मोरीगांव और बरपेटा जिला में जिहादी गतिविधियों से संबंधित मामलों की गंभीरता से जांच कर रही है। गिरफ्तार सभी अंसारुल बांग्ला टीम (एबीटी) के सदस्य बताये गये हैं। बरपेटा में गिरफ्तार 9 जिहादी और उनके स्लीपर सेल से पूछताछ करने के लिए एनआईए की टीम भी पहुंची हुई है।

From around the web