मुज़फ्फरनगर नगरपालिका की अध्यक्ष अंजू अग्रवाल ने किया पालिका अध्यक्ष पद छोड़ने का फैसला 

 
न

मुजफ्फरनगर -नगर पालिका परिषद की अध्यक्ष अंजू अग्रवाल ने भारी मन से पालिका अध्यक्ष का पद छोड़ने का फैसला किया है, यह घोषणा अंजू अग्रवाल ने आज नगर पालिका परिषद में सभासदों के बीच की।

पालिका अध्यक्ष अंजू अग्रवाल ने बताया कि उन्होंने 15 करोड़ के नुकसान की नगर पालिका को 32 करोड़ के लाभ की नगरपालिका बना दिया, लगातार वह शहर के विकास के लिए भागदौड़ और प्रयास कर रही थी, लेकिन एक कॉकस उन्हें करने नहीं दे रहा है। 

हाईकोर्ट से उन्हें पावर सीज पर स्थगन आदेश भी मिल गया था लेकिन अभी तक भी उनकी पावर बहाल नहीं की गई है ,जिसके कारण वे नगर पालिका अध्यक्ष का पद छोड़ रही है।

आपको बता दें कि नगर पालिका परिषद मुजफ्फरनगर में अंजू अग्रवाल कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में चुनाव जीती थी, कई वर्ष तक भारतीय जनता पार्टी के नगर विधायक और उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री कपिल देव अग्रवाल से तनाव के चलते नगरपालिका के विकास कार्यों में अवरोध चल रहा था, जिसके बाद पालिका अध्यक्ष अंजू अग्रवाल भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गई थी लेकिन भाजपा में शामिल होने के बाद भी उन्हें भाजपा में स्वीकार्यता नहीं मिली।

नगर पालिका परिषद में मंत्री  की दखलंदाजी के चलते अंजू अग्रवाल लगातार पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के सामने मुद्दे उठाती रही है लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं की गई। अंजू अग्रवाल ने कहा कि एक तरफ तो पार्टी महिला सशक्तिकरण की बात करती है और दूसरी तरफ एक महिला चेयरमैन को ही काम नहीं करने दिया जा रहा है। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मुजफ्फरनगर दौरे के समय भी अंजू अग्रवाल को बैठक में अंदर आने नहीं दिया गया था जिसके बाद अंजू अग्रवाल ने बाहर कुर्सी बिछा कर अपना विरोध प्रदर्शन किया था।

गत माह पालिका की एक खरीद में अनियमितता के आरोप में उनकी पावर सीज कर दी गई थी जिस पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने पावर बहाल कर दी थी लेकिन प्रशासन ने हाई कोर्ट के आदेश को नहीं माना और उनकी पावर बहाल नहीं की। 

जिसके बाद आज अंजू अग्रवाल ने नगर पालिका में सभासदों के बीच पालिका अध्यक्ष पद छोड़ने की घोषणा की है।  अंजू अग्रवाल ने कहा कि वह ईश्वर की साधना करती है और उन्हीं के निर्देश पर काम करती है, अब मेरे ईश्वर ने मुझे संकेत दिया है कि जब यह काम नहीं करने दे रहे, विकास नहीं करने दे रहे हैं तो मुझे पद छोड़ देना चाहिए, इसलिए मैं नगर पालिका अध्यक्ष का पद छोड़ रही हूं  . अंजू अग्रवाल ने कहा कि उन्होंने अभी अपना लिखित इस्तीफा नहीं भेजा है ,वह जल्द ही इस संबंध में परिवारजनों से वार्ता के बाद पत्रकारों से वार्ता करेंगी और लिखित इस्तीफा नियम अनुसार भेजेगी।  उन्होंने कहा कि वे भाजपा नहीं छोड़ रही है। 

From around the web