राष्ट्रीय समता पार्टी ने पोस्टर जारी कर बोला हमला, कहा- ओपी राजभर अब ठग राजभर बन गए

 
व

वाराणसी। सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व मंत्री ओमप्रकाश राजभर पर नवगठित राष्ट्रीय समता पार्टी ने बड़ा हमला बोला है। पार्टी ने मंगलवार को अपने नदेसर स्थित कार्यालय में ओमप्रकाश राजभर के खिलाफ पोस्टर जारी कर कहा कि ओपी राजभर अब ठग राजभर बन गए है। उनकी पार्टी परिवारवादी पार्टी बन गई है। ओमप्रकाश राजभर ने राष्ट्र रक्षक सुहेलदेव के नाम को भी बदनाम किया है। कभी ओमप्रकाश राजभर के करीबी रहे राष्ट्रीय समता पार्टी के संयोजक शशिप्रताप सिंह ने कहा कि ओम प्रकाश राजभर ने राजभरों के साथ ही पिछड़ों, शोषितों और वंचितों को ठगने के अलावा कुछ नहीं किया है। पूर्वांचल में ठगी के बाद अब वह बिहार के लोगों को ठगने की जुगत में लगे हुए हैं।

शशिप्रताप ने कहा कि 27 सितंबर को कार्यक्रम के लिए वाराणसी आ रहे ओम प्रकाश राजभर को शहर में घुसने नहीं देंगे। जिस सड़क से ओम प्रकाश राजभर आएंगे, उस पर हमारे कार्यकर्ता काला झंडा और ठग राजभर का पोस्टर लेकर उन्हें घेरेंगे। यदि वह मंच पर पुलिस की मदद से पहुंच भी गए तो उन्हें भाषण नहीं देने देंगे। उन्होंने कहा कि राजभर वाराणसी को ठग कर वह बलिया चले गए। ऐसे ठग नेता की बनारस और पूर्वांचल के लोगों को जरूरत नहीं है। अब राजभर समाज के लोग ही ओम प्रकाश राजभर की असलियत को जन-जन के बीच उजागर करेंगे। ओम प्रकाश राजभर व उनके बेटे पूर्वांचल के साथ ही बिहार में भी बुरी तरह असफल साबित होंगे। शशिप्रताप ने कहा कि ऐसा कोई सगा नहीं जिसे राजभर ने ठगा नहीं। ओम प्रकाश राजभर और उनके बेटे कहते हैं कि जो हमारी पार्टी से निकल गया, वह दगा हुआ कारतूस है। कारतूस के लिए बंदूक कहां से आई। उनके पास बंदूक मऊ सदर विधायक के पास से आई है। मऊ सदर विधायक एक लाइसेंस पर चार बंदूक खरीदने के आरोपी हैं और इस समय भगोड़ा घोषित हैं। उन चार बंदूक में एक विधायक के पास है। बाकी तीन बंदूक में से एक जहूराबाद के ठग विधायक के पास और दो उनके दोनों बेटों के पास है। पोस्टरवार में पार्टी के कोर कमेटी के काशी सिंह, प्रकाश जायसवाल, राजकुमार गुप्ता, पुनवासी प्रजापति, रामगोविंद प्रजापति आदि भी शामिल रहे।

From around the web