अग्निपथ उपद्रव के बाद कोचिंग संचालकों पर शिकंजा, चार पर एफआईआर, 164 को नोटिस

 
e5t

नवादा। सेना भर्ती के लिए केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के खिलाफ 16-17 जून को नवादा नगर सहित जिले के अन्य हिस्सों में हुए बवाल के बाद कोचिंग संचालकों पर प्रशासनिक शिकंजा कसने का काम शुरू कर दिया गया है। सबसे पहले तो नवादा नगर में 16 जून को हुई घटना के बावत नवादा सदर अंचल के सीओ शिवशंकर राय द्वारा नगर थाना में जो प्राथमिकी दर्ज कराई गई उसमें चार कोचिंग संचालकों को सीधे तौर पर आरोपित किया गया है।

कुल 48 नामजद किए गए हैं जिसमें चार कोचिंग संचालकों निराला सर इंग्लिश क्लासेस, गौरव कंपटीशन सेंटर के संचालक गौरव कुमार, मैथ क्लासेज के नरेश कुमार और आकाश बैंकिंग के मंकुर कुमार शामिल हैं। वीडियोग्राफी फुटेज व स्थानीय लोगों की कथित पहचान के आधार पर अन्य लोगों के साथ इन चार कोचिंग संचालकों को नामजद किया गया है। सभी काेचिंग संस्थान नवीनगर में संचालित है।

जिले के 164 कोचिंग संचालकों को नोटिस भेजा गया है। इन कोचिंग संस्थानों की जांच शुक्रवार को जिला स्तर पर गठित समिति के द्वारा की जाएगी। समिति में जिला शिक्षा पदाधिकारी, अनुमंडल पदाधिकारी और अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी शामिल हैं। दरअसल, कोचिंग संचालन के लिए 2010 में बनी नियमावली के तहत निबंधन के लिए इन संस्थानों द्वारा आवेदन दिया गया था। लेकिन, कतिपय कारणों से निंबधन नहीं हो सका था। अब जबकि अग्निपथ योजना के बाद हुए बवाल में कोचिंग संचालकों की भूमिका को संदिग्ध माना गया है तो लगाम लगाने की कवायद शुरू की गई है।

सीओ की ओर से जो प्राथमिकी दर्ज कराई गई है उसमें सड़क जाम, प्रशासनिक कार्यों में अडंगा आदि के आरोप लगाए गए हैं। 16 जून को नवादा में प्रजातंत्र चौक को सबसे पहले जाम किया गया था। टायर जला प्रदर्शन किया गया था। उसके बाद नवादा स्टेशन व रेलवे क्रासिंग के समीप भी जाम लगाने व टायर जलाकर विरोध प्रदर्शन की घटना हुई थी।

इन घटनाओं के अलावा वारिसलीगंज विधायक अरूणा देवी पर हमला के बावत नगर थाना में अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। भाजपा कार्यालय पर हमला, तोड़फोड़ व आगजनी के बावत जिलाध्यक्ष संजय कुमार मुन्ना के आवेदन पर अज्ञात के खिलाफ मुफस्सिल थाना में प्राथमिकी दर्ज हुई है। इसी प्रकार हावड़ा-गया एक्सप्रेस ट्रेन पर पथराव की अलग प्राथमिकी दर्ज हुई है। बहरहाल, कोचिंग संस्थानों पर शिकंजा कसने की कवायद से संचालकों में हड़कंप मचा है।

From around the web