चोरी की सफाई मशीन के बाद अब जौहर यूनिवर्सिटी में हजारों किताबें बरामद, सपा विधायक आजम-अब्दुल्ला समेत सात पर केस दर्ज

 
b

रामपुर। उत्तर प्रदेश के रामपुर में वरिष्ठ सपा नेता आजम खान की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही है। जौहर विश्वविद्यालय में नगर निगम से चोरी हुयी सफाई मशीन बरामद होने के अगले दिन मंगलवार को हजारों किताबें बरामद हुयी हैं। ये किताबें ओरिएंटल कॉलेज से कुछ साल पहले चोरी हुयी थीं। इस संबंध में सपा विधायक आजम-अब्दुल्ला समेत सात पर केस दर्ज किया गया है, इसके साथ ही पूर्व पालिकाध्यक्ष अजहर अहमद खां भी नामजद किए गए है।

रामपुर के अपर पुलिस अधीक्षक डा संसार सिंह ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि बरामद हुई किताबों की गिनती चल रही है। पूर्ववर्ती सपा सरकार के कद्दावर पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खान की पहल पर स्थापित जौहर विश्वविद्यालय में चोरी के सामान की धरपकड़ के अभियान में पुलिस को दूसरे दिन बड़ी कामयाबी मिली है। विश्वविद्यालय परिसर में जमींदोज की गयी ऑटोमैटिक स्विपिंग मशीन मिलने के बाद अब हजारों गायब किताबें पुस्तकालय से बरामद होना चौंकाने वाला है।

पुलिस ने दो दिन पहले गिरफ्तार किए गए अनवार और सालिम की निशानदेही पर ये किताबें बरामद की हैं। अनवार और सालिम, आजम खान के करीबी बताये जाते हैं। ये दोनों आजम के विधायक बेटे अब्दुल्ला आजम के करीबी दोस्त भी हैं। अनवार और सालिम की निशानदेही पर ही पुलिस ने कल ऑटोमैटिक स्वीपिंग मशीन बरामद की थी। मशीन कैंपस में गड्ढा खोदकर दबाई गई थी। यह मशीन नगर पालिका परिषद की बताई जा रही है।

पुलिस की पड़ताल के क्रम में ओरिएंटल कॉलेज के प्रधानाचार्य ने पुलिस को सूचना दी थी कि इन दोनों से अगर उनके कॉलेज से चोरी हुई किताबों के बारे में पूछा जाये तो किताबें मिल सकती हैं। पुलिस ने जब अनवार और सालिम से सख्ती से पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि जौहर विश्वविद्यालय के म्यूजियम की लिफ्ट के नीचे किताबें दबी हैं।

पुलिस ने इनकी निशानदेही पर लिफ्ट के नीचे से दबी हुई हजारों की संख्या में किताबों को बरामद कर लिया। ओरिएंटल कॉलेज के प्रधानाचार्य ने पुलिस को बताया था कि वर्ष 2016 में 10633 किताबें कॉलेज से गायब हैं। इनमें से करीब ढाई हजार किताबें पहले जौहर यूनिवर्सिटी से बरामद हो चुकी हैं।

From around the web