ब्रश ही काफी नहीं दांतों की सेहत के लिए
 

 
ब्रश ही काफी नहीं दांतों की सेहत के लिए

दांत हमारे खान-पान को चबाने का काम करते हैं। अगर दांत बीमार हो जाए तो खाया पीया हमारे स्वास्थ्य को पूरा लाभ नहीं पहुंचा पाएगा। दांतों की उचित देखभाल को ओरल हेल्थ भी कहा जाता है जिसमें मसूड़ों का स्वास्थ्य, जीभ की सफाई और दांतों तथा मुंह के कोनों में फंसे खाने को पूर्ण रूप से निकालना आदि शामिल है।

अगर हम दिन में दो समय ही दांतों को ब्रश करें तो यह काफी नहीं ओरल हेल्थ के लिए। अगर आपके मुंह में दुर्गन्ध आ रही है, मसूड़ों से खून निकल रहा है, मसूड़ों में सूजन, दांतों में दर्द ये सब लक्षण दांतों की अस्वस्थता के हैं। समय रहते अपने दांतों के चिकित्सक को दिखाएं और उचित इलाज करवाएं ताकि आपके स्वास्थ्य पर इसका बुरा प्रभाव न पड़े।

गर आए मुंह से बदबू

दिन में दो बार सही तरीके से ब्रश करें ऊपर, नीचे और अंदर। जब भी लगे ब्रश के ब्रिसल्स मुडऩे लगे हैं तो ब्रश बदल लें।

ब्रश करने के बाद जीभ को अच्छे से साफ करें। फिर अच्छे से साफ पानी से कई बार कुल्ला करें ताकि मुंह के अंदर हर कोने से पानी के साथ चिपकी दांतों की गंदगी साफ हो सके।

खाना खाने के 5-10 मिनट बाद अच्छे से कुल्ला करें। दांतों को उंगली से साफ करें और मुंह में साफ पानी भर कर चारों तरफ पानी घुमाएं ताकि बचे हुए खाने के अवशेष पानी के साथ बाहर आ जाएं।

कैफीन का सेवन कम से कम करें। अधिक कॉफी और चाय से दांतों का रंग डार्क होता है।

पानी खूब पिएं। पानी पीने से मुंह की सफाई होती रहती है और मुंह से दुर्गंध भी नहीं आती।

बिना शुगर वाली च्यूंगम चबाने से भी मुंह की दुर्गन्ध दूर होने में मदद मिलती है। खाने के बाद ब्रश न कर पाने की स्थिति में इसे चबा सकते हैं। इससे दांतों की सफाई भी होती है और लार बऩाने में भी मदद मिलती है।

खाना खाने के बाद सौंफ के कुछ दाने चबाने से भी दुर्गन्ध में राहत मिलती है और मुंह में फ्रेशनेस महसूस होती है।

कभी-कभी सिरके को पानी मेें मिलाकर कुल्ला करने से दांत स्वस्थ रहते हैं और उनका पीलापन कम होता है। इसका अधिक प्रयोग दांतों की परत को नुकसान पहुंचा सकता है।

एक नींबू का रस निकालकर एक चुटकी नमक एक गिलास पानी में मिलाएं और दिन में दो से तीन बार इस पानी से कुल्ला करें । ऐसा करने से मुंह की दुर्गंध दूर करने में मदद मिलती है।

दांत में दर्द, बदबू, मसूड़ों की समस्या , सूजन और रक्त आने पर डेंटिस्ट से शीघ्र मिलें ताकि समस्या का समाधान शीघ्र हो सकें।

From around the web