कहीं ल्यूकोरिया आपके स्वास्थ्य को बिगाड़ तो नहीं रहा?

 
न
ल्यूकोरिया स्त्रियों में पाया जाने वाला आम रोग है। ल्यूकोरिया श्वेत प्रदर के नाम से भी जाना जाता है। ल्यूकोरिया ग्रस्त महिलाएं अक्सर सुस्त रहती हैं। इससे सिर और कमर में दर्द रहता है, कमज़ोरी महसूस होती है और आंखों के नीचे काले घेरे बन जाते हैं।
ल्यूकोरिया स्त्री योनि से होने वाला चिपचिपा स्राव होता है। इस स्राव से स्त्री की योनि में सहवास के समय कष्ट होता है। जब स्राव अधिक दिन तक रहे और उसमें दुर्गन्ध भी हो तो डॉक्टरी सलाह अवश्य लें। स्त्री रोग विशेषज्ञ अन्दरूनी जांच के पश्चात् आपको इसका कारण स्पष्ट कर दवा लेने की सलाह देगी। डॉक्टर की सलाह के अनुसार दवा का सेवन करना चाहिए।
क्यों होता है ल्यूकोरिया:- वैसे तो ल्यूकोरिया कई कारणों से होता है। कई स्त्रियां अधिक खट्टे व तेज मसाले वाला भोजन खाती हैं, उन्हें भी ल्यूकोरिया होने की संभावना हो सकती है। यौन रोग से पीडि़त पुरूष के साथ सहवास करने से बार-बार गर्भपात होने या करवाने से, गर्भपात के लिए दवाइयां खाने से, स्त्री के अत्यधिक कमजोर होने से इस बीमारी की संभावना उन स्त्रियों को हो सकती है।
घरेलू उपचार:- लिकोरिया ग्रस्त स्त्रियों को कुछ विशेष बातों पर ध्यान रखना चाहिए जैसे:-
योनि की सफाई पर नियमित    ध्यान देना चाहिए। ध्यान रखें कि पानी साफ होना चाहिए। नहाते समय योनि मार्ग को अच्छी तरह पानी से साफ करना चाहिए। मूत्र त्याग करने के पश्चात् भी योनि को पानी से धो लेना चाहिए।
अपने शरीर को निरोग रखने का प्रयास करें। पौष्टिक भोजन लें, समय पर भोजन खायें और अपने खाने के प्रति लापरवाही न बरतें।
भोजन में अधिक तेज मिर्च मसालों का प्रयोग न करें, न ही भोजन में अधिक खटाई डालें। योनि को बार बार खुजलाएं नहीं। ध्यान रखें कि गंदी उंगलियां और बड़े नाखून कभी भी योनि के अंदर न ले जायें।
भोजन में आयरन, सलाद और हरी सब्जियों का सेवन प्रचुर मात्रा में करें।
यदि आप ल्यूकोरिया का इलाज करवा रही हैं तो उन दिनों शारीरिक  संबंध न बनायें।
गर्भपात हेतु दवाइयों का अधिक सेवन न करें।
यौन पीडि़त पुरूष से संभोग न करें। यदि पति यौन रोग से पीडि़त हों तो उसका उपचार करवायें। उपचार होने तक और ठीक होने तक सहवास न करें।
अपनी इच्छा से किसी भी दवा का सेवन न करें, न ही बिना डॉक्टरी सलाह के कुछ भी योनि मार्ग में रखें।
सूती अंतर्वस्त्र पहनें और दिन में दो बाद अंतर्वस्त्र बदलें। कहीं बाहर जा रही हैं तो अंतर्वस्त्र लाइनर प्रयोग में लायें।
- नीतू गुप्ता

From around the web