लश्कर के आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़, दो सक्रिय आतंकी तथा महिला सहित दो अन्य सहयोगी गिरफ्तार

 
लश्कर के आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़, दो सक्रिय आतंकी तथा महिला सहित दो अन्य सहयोगी गिरफ्तार
बांदीपोरा। बांदीपोरा जिले से लश्कर-ए-तैयबा के एक आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ करते हुए सुरक्षा बलों ने मंगलवार को दो सक्रिय आतंकियों और एक महिला सहित उनके दो सहयोगियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आतंकियों एवं सहयोगियों के कब्जे से भारी मात्रा में हथियार, गोला व बारूद तथा अन्य आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गई है। आतंकियों को पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर(पीओके) में बैठे उनके आकाओं ने नागरिकों तथा सुरक्षाबलों पर बड़े हमले करने का जिम्मा सौंपा था ताकि ज्यादा से ज्यादा नुकसान हो सके।

पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि उत्तरी कश्मीर में आतंकी ढांचे के खिलाफ एक बड़ी सफलता में पुलिस ने सुरक्षा बलों के साथ मिलकर दो सक्रिय आतंकियों और बांदीपोरा में एक महिला सहयोगी सहित उनके दो महत्वपूर्ण सहयोगियों को गिरफ्तार करके लश्कर के एक आतंकवादी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है। उन्होंने कहा कि उनके कब्जे से आपत्तिजनक सामग्री, भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद और आईईडी (इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस) तैयार करने की सामग्री बरामद की गई है।

अधिकारी ने कहा कि सुरक्षा बलों ने गुंदबल नर्सरी में आतंकियों की मौजूदगी की विशेष सूचना मिलने के बाद पूर इलाके की घेराबंदी की और तलाशी अभियान शुरू किया। उन्होंने कहा कि अभियान के दौरान प्रतिबंधित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े दो सक्रिय आतंकियों को गिरफ्तार किया गया। उनकी पहचान रख हाजिन निवासी मुसैब मीर और गुलशनाबाद हाजिन निवासी अराफात फारूक वागे के रूप में हुई है। बरामद किए गए सामान में एक एके-47 राइफल, एक एके-56 राइफल, चार एके सीरीज की मैगजीन, जिंदा राउंड, आरडीएक्स पाउडर, कील और बॉल बेयरिंग, बैटरी, डेटोनेटर, आईईडी मैकेनिज्म सर्किट, रिमोट कंट्रोल, ढीले तार और लोहे के पाइप शामिल हैं।

अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बलों के संयुक्त दल ने इसके अलावा लश्कर आतंकियों के दो सहयोगियों को भी गिरफ्तार किया। इनकी पहचान वांगीपोरा सुंबल निवासी इमरान मजीद मीर और सुराया राशिद वानी निवासी वहाब पर्रे मोहल्ला हाजिन के रूप में हुई है। उनके कब्जे से दो हथगोले और अन्य आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गई है।

प्रारंभिक जांच से पता चला है कि भंडाफोड़ किए गए आतंकवादी मॉड्यूल को पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से लश्कर के आतंकी कमांडर समामा उर्फ बाबर द्वारा नियंत्रित किया जा रहा था। मॉड्यूल को आम जनता के मन में डर पैदा करने के लिए नागरिकों और सुरक्षा बलों पर बड़े हमले करने का निर्देश दिया गया था। उन्होंने कहा कि उन्हें किसी भी भीड़भाड़ वाले सार्वजनिक स्थान पर एक शक्तिशाली आईईडी विस्फोट करने का भी काम सौंपा गया था जिससे अधिकतम नागरिक हताहत हों। उन्होंने कहा कि इन गिरफ्तारियों से एक बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया गया है।

From around the web