गांव, गरीब व किसानों के हित में समर्पित है मोदी सरकार: तोमर
 

 
अस
नई दिल्ली। केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि मोदी सरकार गांव, गरीब व किसानों के हित में समर्पित रही है।

तोमर ने रविवार को एक बयान जारी कर मोदी सरकार के सफलतम आठ वर्ष पूरे होने पर देशवासियों को बधाई दी है। तोमर ने कहा कि केन्द्र सरकार की ओर से शुरू की गई अनेकों जनहितकारी योजनाओं के आशातीत परिणाम आ रहे हैं। देश में शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों के समग्र व संतुलित विकास सहित विभिन्न क्षेत्रों में सफलतापूर्वक काम किया जा रहा है।

तोमर ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने पद संभालने के बाद देश के सामने कहा था कि उनकी सरकार गांव, गरीब व किसानों के लिए समर्पित रहेगी, पीएम मोदी ने अपने कार्यकाल में निरंतर इस बात का पालन करने का सफलतम प्रयास किया है।

वरदान साबित हो रहा है जल जीवन मिशन
तोमर ने कहा कि केन्द्र सरकार की ओर शुरू की गई जल जीवन मिशन लोगों के लिए वरदान साबित हो रहा है। उन्होंने कहा कि गांवों में पीने का साफ पानी सभी को उपलब्ध कराने के लिए जल जीवन मिशन की शुरुआत की गई थी। जो सफलता की ओर अग्रसर है।

तोमर ने कहा कि मोदी सरकार की ओर से प्रयास किया जा रहा कि सभी गांवों में सड़कें, हर गरीब को आवास, शौचालय, बिजली, रसोई गैस कनेक्शन देते हुए गैर बराबरी समाप्त किया जाए।

मोदी सरकार ने एमएसपी को डेढ़ गुना किया
तोमर ने कहा कि देश में कृषि क्षेत्र बहुत महत्वपूर्ण है, जिसके मद्देनजर प्रधानमंत्री ने किसानों की माली हालत सुधारने की न केवल बात कही, बल्कि इसके लिए अनेक ठोस कदम भी उठाए हैं। न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) को डेढ़ गुना किया, पीएम किसान सम्मान निधि योजना के माध्यम से लगभग साढ़े 11 करोड़ किसानों के बैंक खातों में 1.82 लाख करोड़ रु. जमा किए। किसान साहूकारी लोन से मुक्त हो सकें, इस उद्देश्य से करोड़ों किसान क्रेडिट कार्ड वितरित कर इनके माध्यम से 16 लाख करोड़ रु. का अल्पकालीन लोन दिया गया। प्रधानमंत्री का जोर हमेशा खेती की उन्नति पर रहा है, इसी का परिणाम आज हम देख रहे हैं कि देश में खाद्यान्न प्रचुर मात्रा में है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री का हमेशा से यह कहना रहा है कि किसानों को नई टेक्नालॉजी से जुड़ना चाहिए, समूह में खेती करना चाहिए, इसके लिए डिजिटल एग्री मिशन व 10 हजार नए एफपीओ बनाने पर काम चल रहा है, जिससे छोटे किसानों की ताकत बढ़ेगी, खेती में कम लागत आएगी व उत्पादन की वाजिब कीमत उसे मिल सकेगी।

तोमर ने कहा कि सिंचाई हो, चाहे जैविक खेती, सभी में किसानों को मदद दी गई है और प्रधानमंत्री मोदी ने प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने का कार्यक्रम भी शुरु किया है। भारत सरकार प्राकृतिक खेती के लिए मिशन मोड पर काम कर रही है। देश में खाद्य पदार्थों का आयात कम हो, इस दृष्टि से भी तेजी से काम किया जा रहा है। 11 हजार करोड़ रु. के खर्च से राष्ट्रीय आयल पाम मिशन प्रारंभ किया गया है, जिससे आयात पर हमारी निर्भरता कम होगी।

तोमर ने कहा कि किसान ड्रोन को भी प्रमोट किया जा रहा है और इसकी योजना के अंतर्गत छोटे किसानों सहित विभिन्न वर्गों को सब्सिडी देने का प्रावधान किया गया है। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में जिस प्रकार से कृषि नीतियों बनाई गईं, किसानों को सुविधाएं और योजनाओं के माध्यम से लाभान्वित करने की कोशिश की गई, उससे कृषि क्षेत्र में आमूलचूल बदलाव आ रहा है।

तोमर ने कहा कि आज दुनिया के बाजारों में भारत के कृषि उत्पादों की महत्ता बढ़ गई है, परिणामस्वरूप हमारा कृषि निर्यात लगभग पौने चार लाख करोड़ रुपये तक पहुंच गया है, जो अब तक का सबसे ज्यादा है। उन्होंने कहा कि हम सभी देश की आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं, ऐसे में प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में अमृत महोत्सव से अमृत काल तक के सफल में हमें पुराने संकल्प तेजी से पूरे करते हुए नए संकल्पों को लेकर आगे बढ़ना और आत्मनिर्भर भारत की कल्पना को मूर्त रूप देना है।
 

From around the web