भारत पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा पर गेहूं की बुवाई शुरू, सुरक्षा एजेंसियों एवं यूटी प्रशासन ने किसानों को पूरा समर्थन देने का दिया आश्वासन

 
भारत पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा पर गेहूं की बुवाई शुरू, सुरक्षा एजेंसियों एवं यूटी प्रशासन ने किसानों को पूरा समर्थन देने का दिया आश्वासन
कठुआ। योजना सचिव डॉ. राघव लंगर ने बुधवार को डीसी कठुआ राहुल पांडे, डीआईजी बीएसएफ हरिओम और मुख्य कृषि अधिकारी संजीव राय के साथ भारत पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा चौकी चंदवां में गेहूं की बुवाई शुरू करवाई। राघव लंगर ने किसानों को भारत पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा के साथ लगते क्षेत्र में गेहूं की फसल बोने के लिए प्रेरित करने के लिए जिला प्रशासन, सीमा सुरक्षा बल और कृषि एवं किसान कल्याण विभाग कठुआ के प्रयासों की सराहना की।

राघव लंगर ने कृषक समुदाय को गेहूं की फसल की बुवाई को सफल बनाने के लिए हर संभव मदद का आश्वासन दिया जिससे क्षेत्र के अन्य किसानों को भी अंतर्राष्ट्रीय सीमा के साथ परित्यक्त भूमि पर खेती करने के लिए प्रेरित किया जा सके। राहुल पांडे आईएएस डीसी कठुआ ने भी लगातार सीजन के लिए गेहूं की फसल की बुवाई को आगे बढ़ाने के लिए कृषि और किसान कल्याण विभाग द्वारा की गई पहल की सराहना की साथ ही साथ हर मदद का आश्वासन भी दिया। उन्होंने क्षेत्र के किसानों को सुरक्षित खेती का आश्वासन देने पर सीमा सुरक्षा बल को भी धन्यवाद दिया। डीडीसी सदस्य मढ़हीन करण अत्री ने भी कृषि विभाग को उसके निरंतर समर्थन के लिए धन्यवाद दिया और कृषक समुदाय से कृषि विभाग, कठुआ के साथ संपर्क करने की अपील की। उन्होंने किसानों से सीमा सुरक्षा बल के अधिकारियों के साथ सहयोग करने की भी अपील की और इस तरह के आयोजनों को सफल बनाने के लिए सुरक्षा एजेंसियों और जिला प्रशासन को धन्यवाद दिया।

इसी प्रकार हरिओम, डीआईजी सीमा सुरक्षा बल, चंद्रशेखर, कमांडेंट बीओपी चक चांगी के साथ थे, ने कहा कि सीमा सुरक्षा बल उन किसानों को सुरक्षा प्रदान करने के लिए बाध्य है जो भारत पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय सीमा के पार अपनी परित्यक्त भूमि में गेहूं की फसल बोने के इच्छुक हैं। उन्होंने इस मौके पर किसानों को हर तरह की मदद का आश्वासन दिया। कठुआ के मुख्य कृषि अधिकारी संजीव राय गुप्ता ने भी किसानों को कृषि और किसान कल्याण विभाग, कठुआ से नियमित और समय पर तकनीकी सहायता देने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि सुपर सीडर जैसी आधुनिक मशीनरी के उपयोग से किसानों के समय और धन की बचत होगी और यह कृषि के आधुनिकीकरण में एक बड़ी पहल है। उन्होंने जिला प्रशासन, सीमा सुरक्षा अधिकारियों, किसानों, डीडीसी सदस्यों को उनके समर्थन के लिए धन्यवाद दिया और उन्हें आश्वासन दिया। उन्होंने इस अवसर पर कृषि विभाग के अधिकारियों के अथक प्रयासों की भी प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि इस वर्ष रबी 2022-23 के दौरान गेहूं की बुवाई का लक्ष्य 200 एकड़ तक बढ़ाया गया है जिसे सभी हितधारकों, सरकारी एजेंसियों और विभागों के सहयोग से पूरा किया जाएगा। इस अवसर पर बोलते हुए सीमावर्ती क्षेत्र के किसानों ने भी मुफ्त खाद और बीज की अपनी मांग रखी, जिस पर जिला प्रशासन और कृषि विभाग, कठुआ ने पूरा समर्थन देने का आश्वासन दिया। इस अवसर पर संजीव मेहता उप मंडल कृषि अधिकारी कठुआ, जमशेद सिंह ए.ई.ओ मढ़हीन, नारायण जसरोटिया जे.ए.ई.ओ, संजय सिंह ए.ई.ए और कृषि विभाग कठुआ के अधिकारी उपस्थित थे।

From around the web