एशिया कप हॉकी : भारत और कोरिया का मैच ड्रॉ, अब कांस्य पदक के लिए जापान से भिड़ेगी टीम

 
ं
जकार्ता। भारतीय हॉकी टीम मंगलवार को यहां जीबीके स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स हॉकी स्टेडियम में कोरिया के खिलाफ रोमांचक मैच 4-4 से ड्रॉ खेलने के बाद हीरो एशिया कप 2022 फाइनल में पहुंचने का मौका गंवा बैठी। कोरिया और मलेशिया के सुपर 4 पूल टेबल में गोल अंतर से आगे होने के कारण भारत को फाइनल में पहुंचने के लिए मैच जीतने की जरूरत थी। भारत ने अंतिम क्षण तक कोरिया को टक्कर दी, लेकिन मैच नहीं जीत सका।

भारत के लिए नीलम संजीव जेस (9' मिनट), मनिंदर सिंह (21' मिनट), शेषे गौड़ा बीएम (37' मिनट) और मरीस्वरन शक्तिवेल (37' मिनट) ने गोल किया, जबकि जेंग जोंगहुन (13' मिनट), जी वू चेओन (18' मिनट), किम जंग हू (28' मिनट) और जंग मांजे (44') ने कड़े मुकाबले में कोरिया के लिए गोल दागे। भारत अब बुधवार को कांस्य पदक के मुकाबले में जापान से भिड़ेगा।

मैच में भारत ने आक्रामक शुरुआत की। दीपसन तिर्की बाईं ओर से गेंद को सर्कल के अंदर पवन राजभर को पास देने के लिए आए। लेकिन कोरियाई डिफेंस ने नाकाम कर दिया।

पेनल्टी कॉर्नर के अवसर के कुछ मिनट बाद नीलम संजीव जेस ने कोरिया द्वारा फिर से बचाव किया, लेकिन भारत ने आक्रमण करना जारी रखा। नीलम संजीव जेस को कुछ मिनट बाद पीसी के माध्यम से एक और मौका मिला और इस बार, उन्होंने भारत को 1-0 की बढ़त दिलाने के लिए गोल किया। लेकिन कोरिया ने पहले क्वार्टर की समाप्ति से पहले एक पीसी से जेंग जोंगहुन के गोल के साथ बराबरी कर ली।

भारत ने दूसरे क्वार्टर में सीधे एक आक्रामक चाल शुरू की, जिसमें डिप्सन टिर्की ने लक्ष्य पर एक शॉट मारा, केवल कोरियाई गोलकीपर किम ने उसे विफल कर दिया। जी वू चेओन ने कोरिया की बढ़त को दोगुना कर दिया, गेंद को भारतीय गोलकीपर सूरज करकेरा के पास से ही गोल में तब्दिल कर दिया। मनिंदर सिंह ने पेनल्टी कॉर्नर से रिबाउंड पर गोल करते हुए स्कोर को 2-2 से बराबरी कर दी।

भारत के एक जवाबी हमले ने कोरियाई रक्षा को चौंका दिया, क्योंकि शेषे गौड़ा बीएम ने भारत को वापस बढ़त में लाने के लिए गेंद को नेट्स में डाल दिया। किम जोंग हू ने एक अजीब कोण से गोल करते हुए एक बार फिर से 3-3 बराबरी हासिल की।

भारत ने दूसरे हाफ में सावधानी से शुरुआत की, तीसरे क्वार्टर की शुरुआत में गेंद पर कब्जा जमाया। 37वें मिनट में गौड़ा बीएम ने शानदार गोल किया, जिससे भारत को 4-3 की बढ़त हासिल हुई। लेकिन जंग मांजे ने सूरज करकेरा को झकाते हुए मैच 4-4 के स्कोर को बराबरी पर ला दिया, जिसके बाद अंतिम सीटी बजने तक स्कोर का हाल यही रहा, जिससे यह मैच ड्रॉ पर खत्म हुआ।

From around the web