ताजनगरी में स्वास्थ्य व्यवस्था बदहाल, गर्भवती को चारपाई पर लिटाकर ट्रैक्टर-ट्रॉली से अस्पताल लेकर पहुंचे परिजन

 
स

आगरा। ताजनगरी से स्वास्थ्य विभाग की बदहाल तस्वीरें सामने आई है। आगरा के खेरागढ़ में एंबुलेंस सेवा नहीं मिलने पर परिजन गर्भवती महिला को चारपाई पर लिटाकर ट्रैक्टर-ट्रॉली से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे। सीएचसी में गर्भवती को ले जाने के लिए स्ट्रेचर तक नहीं मिला। पूरे मामले के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए हैं। 
जानकारी के मुताबिक रसूलपुर निवासी पुष्पेंद्र की पत्नी गर्भवती सपना को गुरुवार को प्रसव पीड़ा होने लगी। इस पर परिजनों ने सरकारी एंबुलेस के लिए कॉल करने का प्रयास किया, लेकिन कॉल नहीं लगा। वहीं गर्भवती सपना की प्रसव पीड़ा बढ़ती ही जा रही थी। जब परिजन को कुछ नहीं सूझा तो गर्भवती को चारपाई पर लिटाकर पड़ोसी के ट्रैक्टर ट्राली से ही अस्पताल लेकर पहुंच गए। परिजन उसे ट्रैक्टर ट्रॉली से उतारकर चारपाई पर लिटाकर वार्ड तक पहुंचे। उन्हें स्ट्रेचर या व्हीलचेयर तक नहीं मिली। बाद में सपना को आगरा के लिए रेफर कर दिया गया। 
इस संबंध में सीएचसी के अधीक्षक मुकेश चौधरी ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है। एक प्रसूता ट्रैक्टर-ट्रॉली से लाई गई, यह गलत है। उन्होंने कहा कि प्रसूता को लाने के लिए 102 एंबुलेंस सेवा उपलब्ध रहती है। प्रसूता को एंबुलेंस और स्ट्रेचर क्यों नहीं मिला, यह पता करते हैं।

From around the web