न्यायिक कार्य से विरत रहे अधिवक्ता,जिलाधिकारी को भेजा ज्ञापन

 
नन
बागपत। सब रजिस्ट्रार कार्यालय के बाहर अधिवक्तागण की सीट हटाये जाने का नोटिस दिये जाने के विरोध में अधिवक्ता आज न्यायिक कार्य से विरत रहे। इस संबंध में जिलाधिकारी को सम्बोधित ज्ञापन तहसीलदार प्रसून कश्यप को दिया गया। जिसमें नगरपालिका बागपत के अधिशासी अधिकारी द्वारा दिया नोटिस तत्काल वापिस लिये जाने की मांग की गयी। जिला बार एसोसिएशन बागपत के अध्यक्ष सत्येन्द्र खोखर एडवोकेट व महामंत्री महेन्द्र बंसल एडवोकेट के संयुक्त नेतृत्व में अधिवक्ता गण आज न्यायिक कार्य से विरत रहे। दिन में कलक्ट्रेट पहुंचे अधिवक्ताओं ने जिलाधिकारी को सम्बोधित ज्ञापन उनकी अनुपस्थिति में तहसीलदार प्रसून कश्यप को ज्ञापन सौंपा। अधिवक्ताओं का कहना था कि जिला बार से संबद्ध कुछ अधिवक्तागण विगत करीब 40वर्षो से सब रजिस्ट्रार कार्यालय बागपत के बाहर बैठ अपना विधि व्यवसाय और रजिस्ट्री आदि का कार्य करते चले आ रहे हैं। लेकिन अब नगर पालिका परिषद बागपत के अधिशासी अधिकारी द्वारा वहां कार्य कर रहे अधिवक्ताओं को उठने का नोटिस दिया है।  जो किसी भी दशा में न्यायोचित व स्वीकार्य नहीं हैं। जिलाधिकारी को प्रकरण में हस्तक्षेप कर अधिवक्ता गण को यथावत अपना विधिक कार्य करते रहने की मांग की गयी है। ज्ञापन की प्रति बार कौंसिल आफ उत्तर प्रदेश तथा केन्द्रीय संघर्ष समिति प•उत्तर प्रदेश  हाईकोर्ट बैच को भी भेजी गई है। अपनी मांग के समर्थन में अधिवक्ता गण हडताल पर रहे ।कोई न्यायिक कार्य नहीं किया गया। हडताल के कारण कचहरी परिसर में सूनापन रहा। इस मौके पर जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष सत्येन्द्र खोखर, महामंत्री महेन्द्र बंसल, पूर्व अध्यक्ष  सोमेन्द्र  ढाका, दिनेश शर्मा देवेन्द्र आर्य, सतीस त्यागी, संजय पंवार,  सरफराज अहमद ,संदीप चौहान, अमनेश भट्ट, समोद पंवार,अजय वर्मा, अरूण चौहान, कपिल डेढा,संदीप ठाकुर,उमेश चौहान,अमित तोमर,इमरान अली,आदि अनेक अधिवक्तागण उपस्थित रहे।

From around the web