गाजियाबाद में आज प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन को संबोधित करेंगे CM योगी, देंगे 877 करोड़ की परियोजनाओं की सौगात 

 
ू

गाजियाबाद। गाजियाबाद में मुख्यमंत्री आज रामलीला मैदान में प्रबुद्ध सम्मेलन को संबोधित करेंगे। इसके लिए प्रशासन ने व्यापक तैयारी की हुई है। इतना ही नहीं मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में विघ्न डालने वाले लोगों पर खासतौर पर पुलिस प्रशासन की नजर बनी हुई है। पुलिस को अंदेशा है कि पैरंट्स एसोसिएशन के लोग कार्यक्रम के दौरान और के खिलाफ नारेबाजी कर सकते हैं। इसे ध्यान में रखते हुए पुलिस प्रशासन ने सुबह 5:00 बजे से ही पेरेंट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष सीमा त्यागी को उनके घर पर ही नजरबंद कर दिया और उनके घर के बाहर भारी सुरक्षा बल तैनात कर दिया गया।
प्रबुद्ध सम्मेलन के दौरान मुख्यमंत्री 877 करोड़ की देंगे सौगात
गाजियाबाद के कवि नगर रामलीला मैदान में शाम 5:00 बजे प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रबुद्ध वर्ग के सम्मेलन को संबोधित करेंगे। इस दौरान मुख्यमंत्री नगर निकाय चुनाव से पहले ही करीब 877 करोड़ की लागत की करीब 755 परियोजनाओं की सौगात गाजियाबाद को देने वाले हैं। जिसके तहत 509.55 करोड़ की 409 परियोजनाओं का लोकार्पण और 368.28 करोड़ की 346 परियोजनाओं का शिलान्यास भी करेंगे। मुख्यमंत्री के इस कार्यक्रम में भारी संख्या में भीड़ होने की संभावना है। जिसे लेकर पुलिस ने पूरी तरह से सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम किएहुए हैं। इसी कड़ी में पेरेंट्स एसोसिएशन की अध्यक्ष को उनके घर पर ही नजरबंद किया गया है।
पेरेंट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष को उनके घर पर ही किया नजरबंद
बता दें कि उधर पेरेंट्स एसोसिएशन की अध्यक्ष सीमा त्यागी ने अपने घर के बाहर अचानक ही पुलिस बल देखा तो उन्होंने पुलिस कर्मियों से इसकी जानकारी ली तो उन्हें बताया गया कि मुख्यमंत्री का कार्यक्रम है इसलिए आला अधिकारियों के निर्देश पर आपको हाउस अरेस्ट ही किया गया है। जैसे ही उन्होंने यह सुना तो वह आग बबूला हो गई और पुलिसकर्मियों को खरी खोटी सुनाते हुए कहा। कि क्या हम आतंकवादी है ? क्या हम देश द्रोही है ? क्या मुख्यमंत्री जी को शिक्षा के मुद्दे से डर लगता है। सीमा त्यागी ने कहा कि प्रदेश सरकार शिक्षा के मुद्दे पर चुप्पी साधे बैठी है। तमाम बच्चों के अभिभावक परेशानी का सामना कर रहे हैं। इनकी आवाज उठाने के लिए पेरेंट्स एसोसिएशन आगे आई तो एसोसिएशन की भी बात सुनने को तैयार नहीं हैं। आज मुख्यमंत्री के सामने पेरेंट्स एसोसिएशन अपने कुछ मुद्दे ना रखने दें। इसीलिए आज प्रदेश सरकार के इशारे पर उन्हें उनके घर पर ही नजरबंद किया गया है।

From around the web