उप्र में 62 अपराधी चिह्नित, ढाई हजार करोड़ की संपत्ति की गई जब्त : प्रशांत कुमार

 
न
लखनऊ । उत्तर प्रदेश में माफियाओं के आर्थिक साम्राज्य को नेस्तनाबूत करने के लिए एंटी माफिया टॉस्क फोर्स गठित की गई है। जीरो टॉलरेंस नीति के तहत एंटी माफिया टॉस्क फोर्स ने अब तक 62 अपराधियों को चिह्नित कर ढाई हजार करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त किया है। 62 अपराधियों में से 41 को अभियान चलाकर सजा भी दिलाई गई है। नौ की मुठभेड़ में मौत भी हुई है। यह जानकारी प्रदेश के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने दी।

उन्होंने बताया कि एंटी माफिया टॉस्क फोर्स का गठन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर किया गया था। जिसका परिणाम यह हुआ कि अब तक 21 मुकदमों में 12 माफिया और उनके 29 सहयोगियों समेत कुल 41 अभियुक्तों को सजा दिलाई जा चुकी है। इनमें दो अपराधियों को मृत्युदंड की सजा भी शामिल हैं। अब तक चिह्नित किए गए 62 अपराधियों की 2524 करोड़ की संपत्ति जब्त की गई है या ध्वस्त की गई है। 70 अपराधियों को जिला बदर, 24 की जमानत निरस्तीकरण और 311 की हिस्ट्रीशीट खोली गई। जबकि 318 के शस्त्र लाइसेंस निरस्त कराए जा चुके हैं।

उन्होंने बताया कि इस वर्ष अब तक मुख्तार अंसारी से जुड़े सात मामलों में चार्ज फ्रेमिंग की कार्रवाई की गई है। इसके अलावा आकाश जाट, कुंतू सिंह, मुनीर, योगेश भदौड़ा, सुंदर भाटी, अमित कसाना, एजाज, अजीत सिंह, विजय मिश्रा, अनिल दुजाना से संबंधित अपराधियों को अलग-अलग मामलों में दंडित कराया गया है।

From around the web