लखनऊ में परिजनों से हुई कहासुनी पर अस्पताल संचालक ने खुद को मारी गोली, मौत

 
न

लखनऊ। लखनऊ में देर रात एक शख्स ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। गोली लगने के बाद बुलेट सिर के आर-पार हो गई थी। गंभीर हालत में परिजन उसे अस्पताल लेकर गए जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतक की पहचान डॉक्टर मनीष यादव के तौर पर हुई है। वह नोवा अस्पताल का मालिक था।

ठाकुरगंज थाने के प्रभारी निरीक्षक विजय यादव ने बताया कि डॉक्टर मनीष यादव नोवा अस्पताल के संचालक थे।किसी बात को लेकर उनका परिजनों से झगड़ा हो गया जिसके बाद उन्होंने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। परिजनों ने उन्हें लहूलुहान हालात में नोवा अस्पताल ले गए लेकिन वहां से डॉक्टरों ने उन्हें ट्रामा सेंटर के लिए रेफर कर दिया। रास्ते में ही उनकी मौत हो गई।

मौके से पुलिस ने डॉक्टर मनीष यादव की लाइसेंसी पिस्टल बरामद की है। पुलिस सभी लोगों से बयान ले रही है। लेकिन अभी तक ये नहीं पता चल सका है कि अखिरकार डॉक्टर मनीष यादव ने सुसाइड क्यों किया। पूछताछ के दौरान ये भी पता चला कि चार दिन पहले ही उनकी पत्नी तबीयत खराब होने के वजह से मायके चली गई थी

4 साल पहले भाई को डकैतों ने मार दी थी गोली

परिजनों ने बताया कि डॉक्टर ने 7 साल पहले मलिहाबाद से आवास विकास कॉलोनी आ गए थे। उनकी चार साल की एक बेटी भी है। मनीष यादव के परिजनों ने बताया कि साल 2018 में डकैतों ने उनके छोटे भाई की गोली मारकर हत्या कर दी थी।

From around the web