डकैती के आरोप और पुलिस प्रताड़ना से आहत प्रॉपर्टी डीलर ने फांसी लगाकर की आत्महत्या
 

 
ि
मेरठ। सपा नेता के घर डकैती के आरोप में गंगानगर एफ ब्लॉक निवासी मेरठ कॉलेज के कर्मचारी व प्रॉपर्टी डीलर को पुलिस ने उठाकर प्रताड़ित किया। जिससे आहत होकर उसने देर शाम अपने ऑफिस में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। 
मृतक के परिजनों का आरोप है कि अमन विहार में सपा नेता के घर पड़ी डकैती के मामले में पुलिस ने उन्हें सरधना से हिरासत में लिया और 3 दिन तक थाने में रखा था। उसके बाद से वह डिप्रेशन में चल रहे थे। रविवार देर शाम उन्होंने फांसी लगा ली। परिजनों ने सीओ सदर देहात, एसओ का घेराव किया।
इंचोली थाना क्षेत्र के बीटा गांव निवासी फेरम सिंह राणा पुत्र कर्ण सिंह गंगानगर एफ ब्लॉक में परिवार के साथ रह रहे थे। वह मेरठ कॉलेज में कर्मचारी थे और प्रॉपर्टी डीलिंग का कार्य करते थे। 
बीते सोमवार सुबह 5:30 बजे अमन  विहार में सपा कार्यकर्ता श्रवण कुमार के यहां डकैती पड़ी थी। इस मामले में 16 नवंबर को पुलिस ने फेरम सिंह राणा वह अन्य दो लोगों को जबरन हिरासत में लेकर 3 दिन तक पूछताछ के नाम पर थाने में बैठाया था। तीन दिन बाद यानी बीते 18 नवंबर को उन्हें छोड़ दिया गया था। परिजनों का आरोप है कि उसके बाद से डिप्रेशन में थे और खाना नहीं खा रहे थे। उन्हें डर था कि पुलिस दोबारा उन्हें उठा लेगी इससे समाज में बदनामी होगी। 
रविवार शाम अम्हेडा रोड स्थित वह अपने प्रॉपर्टी डीलिंग कार्यालय पर पहुंचे। वहां उन्होंने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। कई बार घंटी जाने पर फोन रिसीव ना होने पर परिजनों ने उनकी तलाश शुरू की। वह उन्हें तलाशते हुए पहले थाने पहुंचे। उसके बाद उनके ऑफिस पर पहुंचे, वहां देखा तो अंदर से दरवाजा बंद था। दरवाजा तोड़कर परिजन अंदर पहुंचे तो उन्हें फांसी पर लटका पाया।

From around the web