25 हजारी मारूफ की तलाश में मेरठ पुलिस का दिल्ली में डेरा, बीजेपी नेता सुनील भराला को धमकी दिलाने का आरोप

 
न
मेरठ। भाजपा नेता और उत्तर प्रदेश श्रम कल्याण परिषद के निवर्तमान अध्यक्ष सुनील भराला को धमकी दिलाने वाले 25 हजारी मारूफ की तलाश में पुलिस ने दिल्ली में डेरा दिया है। दिल्ली एयरपोर्ट के  से भागे मारूफ की लोकेशन पुलिस को अभी तक नहीं मिली है। पुलिस ने मारूफ की हिस्ट्री खंगाली तो पता चला कि मीट कारोबारी की बेटी जेबा को न्यू फ्रेंड कालोनी में चार हजार गज का बंगला किराए पर लेकर दिखाया था। इसके बाद जेबा से निकाह किया था। असलियत सामने आने पर जेबा मारूफ को छोड़कर कनाडा चली गई। 
 दस सितंबर को सुनील भराला के मोबाइल नंबर पर धमकी भरी काल आई थी। इस मामले में पुलिस ने नौचंदी के करीम नगर निवासी अतीब ठाकुर, रेहानी अली निवासी ओखला जाकिर नगर थाना जामियानगर दिल्ली और कासिफ खान निवासी जोगाबाई एक्सटेंशन दिल्ली को जेल भेजा है। अतीब ठाकुर ने पूछताछ में बताया कि सुनील भराला को उसी ने काल की थी।
काल करने के लिए मारूफ ने उसको एक मुकदमे में क्लीनचिट दिलाई थी। पुलिस ने मारूफ की घेराबंदी के लिए दिल्ली में दबिश दी तो वह एयरपोर्ट के बाहर कार और मोबाइल छोड़कर भाग गया। पुलिस अब मारूफ के रिश्तेदारों को हिरासत में लेकर दबाव बनाने में जुटी है। मारूफ के स्वजन के मोबाइल नंबर सर्विलांस पर ले लिए हैं। साथ ही विजय नगर थाने में की गई शिकायतों को भी अपनी विवेचना का हिस्सा बनाया है। एसपी क्राइम अनित कुमार ने बताया कि मारूफ ने टीएडंटी कपनी के निदेशक अंकुश त्यागी को फंसाने के लिए सुनील भराला को धमकी दी थी।  
मारूफ के चाचा कुंवर अय्युब अली के बेटे से सिवाल खास विधायक गुलाम मोहम्मद की बेटी का निकाह हुआ था। निकाह के बाद विधायक की तरफ से दहेज उत्पीड़न का मुकदमा भी दर्ज कराया था। इसके बाद विधायक ने इस परिवार से रिश्ता तोड़ दिया। 
एसएसपी ने बताया कि टीएडंटी कंपनी की शिकायत सुनील भराला ने की थी। कंपनी के अफसर उनकी और परिवार की हत्या करना चाहते थे। कई बार ट्रेन और घर के बाहर भी बाहरी लोगों को देखा गया है। इस पूरे प्रकरण की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। 

From around the web