गौतमबुद्धनगर के जिला कारागार में 31 कैदी एचआईवी पॉजिटिव मिलने से हडकंप

 
न

गौतमबुद्धनगर। गौतमबुद्धनगर के जिला कारागार में बंद 31 बंदियों की एचआइवी रिपोर्ट पॉजीटिव मिलने से जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया।
जेल के एक अधिकारी ने बताया कि जेल में बंदी एचआईवी पॉजिटिव आए। वहीं जिला हॉस्पिटल के सीएमएस पवन कुमार ने बताया कि जेल में शिविर लगाकर तमाम कैदियों के हर तरह के टेस्ट किए गए थे, इनमें पता चला कि 31 कैदी एचआईवी से पीड़ित हैं। जिनका जरूरी इलाज शुरू कर दिया गया है। जेल प्रशासन ने बताया कि रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद इन तमाम कैदियों का सेक्टर-30 स्थित जिला अस्पताल के एंटी रेट्रोवायरल थेरेपी (एआरटी) सेंटर में इलाज शुरू करवा दिया है। आपको बता दें कि नोएडा से पहले ऐसा ही मामला गाजियाबाद से भी सामने आया था। यहां जब कैदियों का टेस्ट किया गया तो 140 कैदी एचआईवी से पीड़ित पाए गए। डासना जेल के सुप्रिटेंडेंट ने इस बात की जानकारी साझा की थी। हालांकि उनका कहना था कि ये एक रूटीन चेकअप होता है, इसमें घबराने की जरूरत नहीं है। कैदी आमतौर पर इंजेक्शन लेने के आदी होते हैं, इसीलिए उनमें एचआईवी संक्रमण की संभावना ज्यादा रहती है। इसी जेल में टीबी के भी कई मरीज पाए गए थे। डासना जेल में करीब 5 हजार से ज्यादा कैदी बंद हैं। जिनका रूटीन चेकअप किया जाता है और जब कोई बीमारी पाई जाती है तो उनका इलाज शुरू किया जाता है। ऐसे कैदियों को अलग रखा जाता है।

From around the web