पोषण पाठशाला कल, ‘सही समय पर ऊपरी आहार की शुरुआत’ पर होगी चर्चा
 

 
म
नोएडा। छह माह की आयु वाले बच्चों को ऊपरी आहार की शुरुआत किस प्रकार करनी चाहिए यह जानना बहुत जरूरी है। गौतमबुद्धनगर में शुक्रवार (25 नवम्बर) को इसी विषय पर पोषण पाठशाला का आयोजन किया जाएगा। पाठशाला अपराह्न 12 बजे से दोपहर दो बजे तक चलेगी। इस पाठशाला में जिला कार्यक्रम अधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी, मुख्य सेविका, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग के लाभार्थी, गर्भवती (अंतिम त्रैमास) और धात्री माताएं प्रतिभागी होंगी। पाठशाला में “ऊपरी आहार की शुरुआत” को लेकर चुनौतियों और उनके समाधान पर विस्तृत जानकारी दी जाएगी। पोषण को लेकर यह चौथी पाठशाला है। 
जिला कार्यक्रम अधिकारी पूनम तिवारी ने बताया -25 नवम्बर को अपराह्न 12 से दोपहर दो बजे तक पोषण पाठशाला एनआईसी के माध्यम से वीडियो कांफ्रेंसिंग से होगी। इस कार्यक्रम की मुख्य थीम सही समय पर ऊपरी आहार की शुरुआत है। पोषण पाठशाला में अधिकारियों के अतिरिक्त विषय विशेषज्ञ हिन्दी में चर्चा करेंगे। कॉन्फ्रेसिंग के जरिए लाभार्थियों व अन्य के प्रश्नों का उत्तर भी मिलेगा। यह कार्यक्रम वेब लिंक https://webcast.gov.in/up/icds पर लाइव वेब-कॉस्ट भी होगा। इस लिंक से कोई भी कार्यक्रम से सीधे जुड़ सकता है।
पूनम तिवारी ने बताया- जो प्रतिभागी इस कार्यक्रम में एनआईसी के माध्यम से जुड़ेंगे, उन्हें बेवकास्ट के समय विषय विशेषज्ञों से प्रश्न पूछने का विकल्प होगा। पूर्व में ही यह सुनिश्चित कर लिया जाएगा कि जिन प्रतिभागियों-लाभार्थियों को प्रश्न पूछना है, जनपद के एनआईसी केन्द्र में बाल विकास परियोजना अधिकारी एवं मुख्य सेविकाएं उपस्थित रहेंगी। उन्होंने बताया आंगनबाड़ी कार्यकर्ता अपने स्मार्ट फोन पर वेब लिंक के माध्यम से कार्यक्रम से जुड़ेंगी। सभी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को निर्देश है कि वह अपने केन्द्र पर पंजीकृत अंतिम त्रैमास की गर्भवती, धात्री माताओं, उनके अभिभावक के साथ उपस्थित रहें। लाभार्थी, जिनके पास स्मार्ट फोन हैं और वह किसी कारण केन्द्र पर नहीं आ पाएंगी वह यथा सम्भव अपने घरों से वेब लिंक के माध्यम से कार्यक्रम से जुड़ेंगी।
बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग की निदेशक सरनीत कौर ब्रोका ने सभी जिला कार्यक्रम अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि वह जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी व मुख्य चिकित्सा अधिकारी से इस कार्यक्रम के दौरान एनआईसी केन्द्र में उपस्थित रहने के लिए अनुरोध करें। संयुक्त परियोजना समन्वयक सेराज अहमद इस कार्यक्रम के नोडल अधिकारी हैं।
पूनम तिवारी ने बताया पोषण के प्रति जागरूकता और व्यवहार परिवर्तन करने के उद्देश्य से यह चौथी पोषण पाठशाला है। पहली पोषण पाठशाला 26 मई 2022 को 'शीघ्र स्तनपान एवं केवल स्तनपान' विषय पर हुई थी जबकि दूसरी 30 जून 2022 को 'प्रभावी स्तनपान हेतु सही तकनीक' और तीसरी 25 अगस्त 2022 को 'सही समय पर ऊपरी आहार' विषय पर हुई थी। 25 नवम्बर को चौथी पाठशाला का आयोजन किया गया है इसकी थीम 'सही समय पर ऊपरी आहार” पार्ट टू है।

From around the web