सहारनपुर में सम्पूर्ण समाधान दिवस का आयोजन, 75 शिकायतों में से 4 का मौके पर निस्तारण 

 
स

सहारनपुर। सम्पूर्ण समाधान दिवस पर तहसील सदर में राजस्व विभाग की 33, पुलिस विभाग की 11, विकास प्राधिकरण की 03, नगर निगम की 08, विकास विभाग की 03, विद्युत विभाग की 04 एवं अन्य विभागों की 13 कुल 75 शिकायतें प्राप्त हुई जिनमें से राजस्व की 04 शिकायतों का मौके पर ही निस्तारण कर दिया गया। 

डीएम अखिलेश सिंह आज सम्पूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिए कि हर घर तिरंगा कार्यक्रम के तहत लोगों के अन्दर राष्ट्रीय भावना जागृत करने एवं मनोबल बढाने के लिए तथा देश की आजादी की 75वीं वर्षगांठ होने पर अमृत महोत्सव कार्यक्रम को जन-जन तक पंहुचाने के लिए पूरे मनोयोग से इस अभियान में बढ-चढकर हिस्सा लें एवं प्रेरित करें। 11-17 अगस्त तक आयोजित किये जाने वाले विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों एवं 13 से 15 अगस्त तक “हर घर तिरंगा” कार्यक्रम के आयोजन में किसी भी प्रकार की ढिलाई न बरती जाए। उन्होने कहा कि ‘‘स्वतंत्रता सप्ताह‘‘ को ऐतिहासिक बनाने में अपना पूर्ण सहयोग दें।

इस अवसर पर उन्होंने अवगत कराया कि आगामी 07 अगस्त से कलेक्ट्रेट, विकास भवन, पंचायत कार्यालय, विकासखण्ड कार्यालय आदि में न्यूनतम दर तय करते हुए खादी का झण्डा 125 रूपये में तथा जनसामान्य के लिए बनाया गया झण्डा 15 रूपये में मिल सकेगा। उन्होने कहा कि कुछ केन्द्रों में आज से ही बिक्री के लिए झण्डे उपलब्ध करवा दिये गये है। उन्होने निर्देश दिए कि वृक्षारोपण अभियान के तहत लगाये गये पौधों की शत-प्रतिशत जियो टैगिंग करना सभी विभाग सुनिश्चित करें। तहसील सदर में उन्होंने कहा कि गम्भीर प्रकृति की शिकायतों के निस्तारण के लिए अलग से जांच दल गठित किये जायें। सम्पूर्ण समाधान दिवस में प्राप्त शिकायतों का समयबद्ध एवं गुणवत्तापूर्ण तरीके से निस्तारण किया जाए। जन सामान्य की शिकायतों का निस्तारण यथाशीघ्र करना माननीय मुख्यमंत्री जी की सर्वोच्च प्राथमिकता है। इसलिए इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। शिकायतकर्ता को अनावश्यक परेशान करने वाले कर्मियों के विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जायेगी। शिकायतों के निस्तारण में लापरवाही क्षम्य नहीं होगी। उन्होंने कहा कि राजस्व वादों पर समय से कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कहा कि सभी उच्चाधिकारी निस्तारित शिकायतों का शिकायतकर्ता से फीडबैक लेकर पंजिका में अंकित किया जाए। उन्होने निर्देश दिए कि सरकारी जमीनों को अवैध कब्जाधारियों से मुक्त कराना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि जनपद में कहीं पर भी अतिक्रमण की स्थिति न हो। जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने सरकार द्वारा चलायी जाने वाली जनकल्याणकारी योजनाओं के लाभ से प्रत्येक पात्र को लाभान्वित कराया जाना सुनिश्चित किया जाए तथा इसका लाभ समाज के अंतिम पंक्ति पर खडे व्यक्ति तक पंहुचाना सुनिश्चित करें। इस अवसर पर  विधायक  मुकेश चौधरी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक विपिन ताडा, मुख्य विकास अधिकारी विजय कुमार, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 संजीव मांगलिक, उप जिलाधिकारी सदर सुश्री किंशुक श्रीवास्तव, तहसीलदार सदर नितिन राजपूत तथा संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित रहे।

From around the web