खुलेआम बीजेपी से पंगा लेने के मूड में नहीं नीतीश, देवीलाल की जयंती समारोह से बना ली है दूरी 

 
न

नई दिल्ली ।  तीसरे मोर्चे के गठन की कवायद के बीच इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) के नेता ओम प्रकाश चौटाला पूर्व उप प्रधानमंत्री देवी लाल की जयंती के मौके पर 25 सितंबर को हरियाणा के जींद में किसान सम्मेलन का आयोजन करने जा रहे हैं। इस सम्मेलन में मुलायम सिंह यादव, पूर्व पीएम एचडी देवेगौड़ा और शिरोमणि अकाली दल के चीफ प्रकाश सिंह बादल एक मंच पर आएंगे। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने व्यस्तता का हवाला देते हुए इस कार्यक्रम से दूरी बना ली है। हालांकि, अब नीतीश कुमार के इस कार्यक्रम में शामिल न होने को लेकर असली वजह सामने आई है।

नीतीश कुमार कई साल से  बीजेपी विरोधी नेताओं के साथ मंच साझा करने से परहेज कर रहे हैं। खबर के मुताबिक, नीतीश पेगासस जासूसी कांड की जांच और फिर जातीय जनगणना की मांग करने के बाद अब सार्वजनिक तौर पर बीजेपी से किसी और तरह का पंगा नहीं लेना चाहते हैं। अगर नीतीश कुमार 25 सितंबर को होने वाले कार्यक्रम में शामिल होते हैं, तो वे देवेगौड़ा, मुलायम सिंह यादव और प्रकाश सिंह बादल जैसे नेताओं के समर्थन में दिखेंगे, जो कि बीजेपी के कट्टर विरोधी माने जाते हैं।

बता दें कि इनेलो नेता अभय चौटाला ने बताया कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार, तृणमूल कांग्रेस प्रमुख एवं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला और रालोद नेता जयंत चौधरी को भी इस अवसर पर एक 'विशाल' राजनीतिक रैली के लिए आमंत्रित किया गया है और इन नेताओं की तरफ से शामिल होने की पुष्टि की प्रतीक्षा है। उन्होंने कहा कि मुलायम सिंह यादव, नीतीश कुमार, देवेगौड़ा और बादल ने पुष्टि की है कि वे देवीलाल की जयंती के अवसर पर आयोजित होने वाले 'सम्मान समारोह' में शामिल होंगे। अभय चौटाला ने कहा, गैर-भाजपा और गैर-कांग्रेसी दलों के कई समान विचारधारा वाले नेता एक मंच पर साथ आएंगे और ऐसे मुद्दों को उठाएंगे जो लोगों से जुड़े हैं, खासकर किसानों के मुद्दे। उन्होंने कहा कि जनता भाजपा और कांग्रेस का विकल्प तलाश रही है। चौटाला ने कहा, हमारा उद्देश्य इन सभी नेताओं को साथ लाकर देश और जनता के समग्र कल्याण के लिए तीसरा मोर्चा बनाना है। बता दें कि बीते महीने राजधानी दिल्ली के दौरे पर आए बिहार सीएम नीतीश कुमार ने ओमप्रकाश चौटाला से मुलाकात कर भी सियासी सरगर्मी को हवा दे दी थी। दरअसल नीतीश कुमार और केसी त्यागी ने पूर्व में ओमप्रकाश चौटाला के पिता एवं पूर्व उपप्रधानमंत्री दिवंगत देवीलाल के साथ काम किया था।

From around the web