ब‍िलासपुर : सात माह की बच्‍ची का शव लेने नहीं पहुंचे माता-पिता, स‍िम्‍स कर्म‍ियों व प्रशासन ने क‍िया अंत‍िम संस्‍कार

 
ब‍िलासपुर : सात माह की बच्‍ची का शव लेने नहीं पहुंचे माता-पिता, स‍िम्‍स कर्म‍ियों व प्रशासन ने क‍िया अंत‍िम संस्‍कार
बिलासपुर। ज‍िले के स‍िम्‍स अस्‍पताल में सात महीने की बच्ची का कोरोना से इलाज के दौरान मौत हो गई। बच्‍ची के माता-प‍िता शव अस्‍पताल में छोड़कर चले गए। उसके बाद बच्‍ची के शव को कोई भी लेने नहीं आया, जिसका अंतिम संस्कार सोमवार को सिम्स कर्मचारियों और प्रशासन ने किया है।
उल्‍लेखनीय है क‍ि मस्तूरी विकासखंड के पचपेड़ी निवासी देव कुमार मार्शल की सात महीने की बच्ची अहाना कोविड पॉजिटिव हो गई थी। ​उसे इलाज के लिए सिम्स बिलासपुर में भर्ती कराया गया था। इलाज के दौरान 29 अप्रैल को अहाना का निधन हो गया। इसके बाद अहाना के मां बाप उसके शव को सिम्स में ही छोड़कर चले गए। उनकी ओर से दिए गए पते पर खंड चिकित्सा अधिकारी की ओर से रव‍िवार को जाकर पतासाजी की गई, पर घर में ताला लगा म‍िला व इसके साथ देव कुमार मार्शल का मोबाइल भी बंद मिला। इस संबंध में पड़ोसियों से बात करने पर पड़ोसियों ने कुछ भी बताने से मना कर दिया। लेकिन शासन के नियमानुसार 72 घंटे तक परिजनों का इंतजार किया गया, जब कोई नहीं आया तो जिला प्रशासन बिलासपुर के निर्देशन में स्वास्थ्य विभाग एवं सिम्स के कर्मचारी प्रवीण कौशिक, राकेश मौर्य, अरविंद चौबे की उपस्थिति में शव का पंचनामा करते हुए अंतिम संस्कार के लिए मुक्तिधाम भिजवाया गया। यहां तोरवा मुक्तिधाम प्रभारी, नायब तहसीलदार राजकुमार साहू की ओर से नियमानुसार बच्ची का अंतिम संस्कार किया गया।

From around the web