चंडीगढ़ः कोरोना सैंपल देते समय जरूरी होगा पहचान पत्र जमा करवाना

 
1

चंडीगढ़। हरियाणा में कोरोना जांच के लिए अब संदिग्ध रोगी के लिए पहचान पत्र को अनिवार्य कर दिया गया है। हरियाणा मेडिकल सर्विस कारपोरेशन लिमिटेड के प्रबंध निदेशक ने प्रदेश के सभी जिला सिविल सर्जनों को जारी पत्र में यह निर्देश दिए हैं कि वह कोरोना सैंपल को जांच के लिए भेजते समय मरीज का पहचान पत्र जरूर लें।

हरियाणा में पिछले दिनों कई जिलों में संदिग्ध मरीजों के सैंपल गुम होने तथा बदले जाने की खबरें आ रही थी। वर्तमान प्रणाली में जिला स्तरीय अस्पतालों द्वारा मरीजों के सैंपल लेते समय उनके पहचान पत्रों की जांच तो की जा रही है लेकिन बहुत से जिलों में उनके नंबर आदि की एंट्री नहीं की जा रही है और कोरोना जांच करवाने वालों का रिकार्ड भी नहीं तैयार हो रहा है। 

ऐसे में एचएमएससीएल के एमडी ने सिविल सर्जनों को निर्देश दिए हैं कि वह अपने-अपने क्षेत्र में कोरोना सैंपलिंग में लगे स्टाफ को निर्देश दें कि वह सैंपल लेते समय संबंधित व्यक्ति से उसका आधार कार्ड नंबर जरूर लें। इसके विकल्प के रूप में पैन कार्ड, वोटर कार्ड तथा ड्राईविंग लाइसेंस भी लिया जा सकता है। इस सभी दस्तावेजों के आभा में पासपोर्ट की कॉपी भी पहचान के रूप में ली जा सकती है।

 एचएमएससीएल ने यह भी साफ किया है कि सरकारी कर्मचारी तथा सरकार से जुड़े व्यक्ति संबंधित विभाग द्वारा जारी पहचान पत्र को भी कोरोना सैंपल के समय दर्ज करवा सकते हैं।

From around the web