इंदौर में ऑनलाइन जहर मंगाकर आत्महत्या करने के मामले में सरकार गंभीर

 
R
इंदौर| मध्य प्रदेश में बीते कुछ दिनों में ऑन लाइन सामग्री की आपूर्ति में बड़े पैमाने पर गड़बड़ियां सामने आई हैं। नया मामला इंदौर का है जहां एक व्यक्ति ने ऑनलाइन जहर मंगाकर खा लिया। इस मामले को सरकार ने गंभीरता से लिया है। राज्य के गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने भोपाल में संवाददाताओं से चर्चा के दौरान कहा कि इंदौर में ई-कॉमर्स कंपनी अमेजॉन से जहर मंगाकर आत्महत्या करने का विषय बहुत गंभीर है। वहीं भिंड में अमेजॉन से ऑनलाइन गांजा बेचने के मामले पर कंपनी के अधिकारियों को तलब कर रहे हैं।
डॉ. मिश्रा ने आगे कहा कि ई-कॉमर्स के सभी प्लेटफॉर्म को लेकर प्रदेश सरकार जल्द ही नीति बनाकर केंद्र सरकार को भेजेगी।
बताया गया है कि इंदौर के लोधी कॉलोनी निवासी आदित्य ने 29 जुलाई को जहर खाकर आत्महत्या कर ली थी। जनसुनवाई के दौरान मंगलवार को आदित्य के पिता ने प्रशासन को आवेदन दिया कि उनके बेटे को ऑनलाइन कंपनी ने सल्फास आसानी से उपलब्ध कर दी थी। आदित्य के पिता ने प्रशासन को डिलेवरी से संबंधित तमाम दस्तावेज भी सौंपे हैं।
ज्ञात हो कि इससे पहले भिंड में सूखे पत्तों के स्थान पर गांजे की ऑनलाइन आपूर्ति की गई थी। इस मामले के सामने आने के बाद राज्य के गृहमंत्री ने कहा था कि ऑनलाइन बिजनेस कंपनियों को लेकर प्रदेश सरकार गाइडलाइन बनाएगी।

From around the web