मुंबईः दो ऑक्सीजन एक्सप्रेस 244 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन लेकर गंतव्य की ओर रवाना

 
1

मुंबई। कोरोना मरीजों के इलाज के लिए दो ऑक्सीजन एक्सप्रेस क्रमशः 104 और 140 मीट्रिक टन लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन लेकर मंगलवार को दिल्ली कैंट और तुगलकाबाद स्टेशनों के लिए रवाना हुईं। ये दोनों स्पेशल ट्रेनें बुधवार सुबह अपने-अपने गंतव्य पर पहुंचेंगीं।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुमित ठाकुर के अनुसार मंगलवार (4 मई) को दिल्ली क्षेत्र की ओर दो ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनें रवाना की गईं। पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस गुजरात के हापा से दिल्ली कैंट के लिए सुबह तड़के 4.40 बजे रवाना हुई, जिस पर 5 टैंकरों में 104 मीट्रिक टन ऑक्सीजन है। लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए टैंकर मेसर्स रिलायंस इंडस्ट्रीज, जामनगर द्वारा उपलब्ध कराए गए हैं। यह ट्रेन बुधवार (5 मई) की सुबह 1230 किमी की दूरी तय करने के बाद दिल्ली कैंट पहुंचेगी। एक अन्य ऑक्सीजन एक्सप्रेस सुबह 6.20 बजे मुंद्रा पोर्ट से तुगलकाबाद के लिए रवाना हुई। यह ट्रेन भी बुधवार (5 मई) की सुबह अपने गंतव्य तक पहुंच जाएगी। इस ट्रेन में 7 टैंकरों के जरिये 140 मीट्रिक टन लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन रवाना किया गया है। ये टैंकर संयुक्त अरब अमीरात से जल मार्ग द्वारा मुंद्रा पोर्ट पर आए थे।  

ठाकुर ने बताया कि पश्चिम रेलवे ने अब तक 4 आक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनों के जरिये लगभग 373 टन तरल चिकित्सा ऑक्सीजन का परिवहन किया है। तीन मई को हापा से चली ऑक्सीजन एक्सप्रेस चार मई को सुबह 3.10 बजे हरियाणा के गुरुग्राम पहुंच गई। इसे सर्वोच्च प्राथमिकता दी गई और क्रायोजेनिक कार्गो के कारण सभी सुरक्षा उपायों को सुनिश्चित करते हुए लगभग 53 किमी प्रति घंटे की औसत गति से निर्बाध पथ पर चलाया गया, ताकि इसे कम से कम समय में गंतव्य तक पहुंचाया जा सके।

सभी चुनौतियों से निपटते और इन परिस्थितियों में नए समाधान खोजते हुए, भारतीय रेलवे देशभर के विभिन्न राज्यों में मिशन मोड में लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन पहुंचाकर राहत का क्रम जारी रखे हुए है। ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनों के जरिये पूरे देश में ऑक्सीजन की सख्त जरूरत वाले कोविड-19 मरीजों को मेडिकल ऑक्सीजन उपलब्ध कराना सुनिश्चित हो रहा है। इस क्रम में तीन मई तक रेलवे द्वारा विभिन्न राज्यों जैसे महाराष्ट्र (174 मीट्रिक टन), उत्तर प्रदेश (430.51 मीट्रिक टन), मध्य प्रदेश (156.96 मीट्रिक टन), दिल्ली (190 मीट्रिक टन), हरियाणा (109.71 मीट्रिक टन) एवं तेलंगाना (63.6 मीट्रिक टन) को 76 टैंकरों के जरिये 1125 मीट्रिक टन से अधिक लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन की सुपुर्दगी की जा चुकी है।

From around the web