पाक हैंडलर ने ड्रोन से गिराए गए हथियारों के क्षेत्रों का किया खुलासा

 
1
जम्मू। जम्मू पुलिस ने गिरफ्तारी के करीब एक सप्ताह बाद पाकिस्तानी हैंडलर से पूछताछ में उन इलाकों का खुलासा करवा लिया है जहां इसने रेकी तथा ड्रोन की मदद से हथियार गिराने के स्थान निर्धारित किये थे ताकि उन्हें कश्मीर घाटी के अन्य स्थानों पर पहुंचाया जा सके।

जांच से जुड़े सूत्रों ने यूनीवार्ता को बताया कि गिरफ्तार आतंकवादी एक सप्ताह की पुलिस रिमांड पर था, जिसे आगे बढ़ा दिया गया है। उन्होंने कहा,“ पूछताछ के दौरान, उसने हाल के दिनों में कश्मीर घाटी में हथियारों के परिवहन में अपनी संलिप्तता कबूल की, गोला-बारूद गिराने की बात भी कबूल की। ”

सूत्रों ने कहा,“ पूछताछ के दौरान आतंकवादी को उन स्थानों पर भी ले जाया गया, जिनकी उसने पहचान की और उन क्षेत्रों में भी जहां से उसने हथियार एकत्र किए थे। ”

उन्होंने कहा कि हालांकि वह एक ट्रक चालक है, लेकिन तकनीक का जानकार है और सीमा पार अपने आकाओं के संपर्क में रहता था। उनके हुक्म पर, वह इस क्षेत्र में आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देता था।

सूत्रों ने कहा, “आतंकवादी से पूछताछ की जा रही है और यह भी पता चला है कि उसकी गिरफ्तारी के बारे में पता चलने पर उसका एक साथी घाटी में भाग गया है, लेकिन उसे पकड़ने के लिए तलाशी जारी है। ”

गत 11 जुलाई को पुलिस ने पुलवामा के प्रिशू निवासी मुंतज़िर मंज़ूर के रूप में पहचाने गए ट्रक चालक से तस्करी के हथियार एवं विस्फोटकों की बरामदगी कर उसकी मंशा को विफल कर दिया।

पुलिस ने कहा, “ वाहन से एक पिस्तौल और दो हथगोले बरामद किए गए जिसके बाद चालक को गिरफ्तार कर लिया गया।”

प्रारंभिक जांच के अनुसार ड्राइवर ने खुलासा किया है कि हथियार, हथगोले की यह खेप सीमा पार से ड्रोन द्वारा गिराई गई थी और सीमा पार से हैंडलर ने उसे इस खेप को कश्मीर घाटी तक ले जाने का काम सौंपा था।

गौरतलब है कि जम्मू पुलिस आतंकवाद विरोधी मोर्चे पर कड़ी मेहनत कर रही है और हाल के दिनों में कई आतंकवादी साजिशों को नाकाम कर दिया गया है, जिसमें 5.5 किलोग्राम वजनी आईईडी की बरामदगी और उन आरोपियों की गिरफ्तारी शामिल है। आरोपियों को जम्मू में एक बड़ी आईईडी हमला करने का काम सौंपा गया था, लेकिन साजिश को नाकाम कर दिया गया।

जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक, दिलबाग सिंह ने सोमवार को जम्मू क्षेत्र में सुरक्षा परिदृश्य की समीक्षा के लिए एक उच्च स्तरीय संयुक्त सुरक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए अधिकारियों को अतिरिक्त सतर्क और चौकस रहने का निर्देश दिया।

From around the web