राज्यपाल कलराज मिश्र ने 11 केबिनेट एवं चार राज्य मंत्रियों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई

 
न

जयपुर-राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने आज राजभवन में 11 कैबिनेट एवं चार राज्य मंत्रियों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलायी।

राजभवन में खचाखच भरे हाल में आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में राज्यपाल ने शपथ लेने के लिए जैसे ही पहले मंत्री हेमाराम चौधरी का नाम पुकारा तो कार्यकर्ताओं के जयकारों एवं नारेबाजी से हाल गुंज उठा। यह नारेबाजी क्रम शपथग्रहण कार्यक्रम पूरा होने तक चलता रहा।

श्री मिश्र ने हेमाराम चौधरी, महेंद्र सिंह मालवीय, रामलाल जाट, महेश जोशी, विश्वेन्द्र सिंह, रमेश मीणा, गोविंद राम मेघवाल और शकुंतला रावत को केबिनेट मंत्री के रूप में शपथ दिलाई।

श्री मिश्र ने निवर्तमान मंत्रिमंडल में शामिल ममता भूपेश, भजनलाल जाटव और टीकाराम जूली को भी कैबिनेट मंत्री की शपथ दिलाई वहीं बृजेंद्र सिंह ओला, मुरारीलाल मीणा, राजेन्द्र गुढा और जाहिदा खान को राज्य मंत्री के रूप में शपथ दिलाई।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने तीन मंत्रियों के संगठन में जाने के कारण इस्तीफा ले लिया जिसमें स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा, राजस्वमंत्री हरीश चौधरी एवं शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा शामिल है।

शपथ ग्रहण समारोह में प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी महासचिव अजय माकन, पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा भी उपस्थित रहे।

 गहलोत सरकार के मंत्रीमंडल पुनर्गठन में आज शपथ लेने वाले 15 मंत्रियों में सबसे उम्रदराज मंत्री हेमाराम चौधरी और सबसे युवा मंत्री टीकाराम जूली है।

श्री कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ लेने वाले श्री चौधरी का जन्म 18 जनवरी 1948 को सीमांत बाड़मेर जिले के बयातू भीमजी गांव में हुआ था। उनका वर्ष 1971 में भीखी चौधरी के साथ विवाह हुआ। श्री चौधरी ने बीकॉम, एलएलबी तक पढ़ाई की है । वर्तमान में 15 वीं विधानसभा में वह बाड़मेर जिले के गुडमलानी निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं । वह 7वीं 8वीं 11वीं 12वीं और 13वीं विधानसभा के सदस्य भी रहे हैं । इससे पहले 13वीं विधानसभा के दौरान वे राजस्थान सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं ।

राज्य मंत्री से प्रमोट करके कैबिनेट मंत्री बनाई गई ममता भूपेश का जन्म झुंझुनूं जिले के इस्लामपुर में 28 जून, 1973 को हुआ। इन्होंने बी.ए. किया है और दौसा जिले की सिकराय तहसील के सिकन्दरा ग्राम की रहने वाली हैं। वह वर्तमान में सिकराय विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रही है और गहलोत सरकार के इसी शासन में महिला बाल एवं विकास राज्य मंत्री थी।

कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ लेने वाले डा महेश जोशी का जन्म 14 सितम्बर, 1954 को जयपुर में हुआ। इन्होने एम.ए. और एम.जे.एम.सी की डिग्रीया प्राप्त की हैं। इससे पहले डा जोशी गहलोत सरकार में सरकारी मुख्य सचेतक थे।

कैबिनेट मंत्री के रूप में ही शपथ लेने वाले गोविन्द राम मेघवाल खाजूवाला बिकानेर से विधायक हैं।श्री मेघवाल का जन्म 20 जनवरी, 1962 को बीकानेर के पूगल में हुआ था। इन्होंने एम. ए. तक पढ़ाई की है।यह मूल रूप से बीकानेर के पूगल के ही रहने वाले है।

कैबिनेट मंत्री रामलाल जाट का जन्म 2 मई 1955 को भीलवाड़ा जिले की हुरदा तहसील के ग्राम प्रतापपुरा में हुआ था।

श्री जाट ने बी.कॉम (द्वितीय वर्ष)तक पढ़ाई की है। वर्तमान में श्री जाट 15 वीं विधानसभा में भीलवाड़ा जिले के मंडल निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं। विधायक के रूप में वह गृह समिति के अध्यक्ष और राजस्थान विधानसभा की नियम समितियों के सदस्य भी रहे हैं। वह इससे पहले भी मंत्री रह चुके हैं।

कैबिनेट मंत्री विश्वेन्द्र सिंह का जन्म 23 जून, 1962 को भरतपुर में हुआ। इनके पिता पूर्व महाराजा ब्रजेन्द्र सिंह थे। श्री विश्वेंद्र सिंह ने सेन्ट्रल स्कूल, भरतपुर से मैट्रिक तक शिक्षा प्राप्त की है। आप नौवीं, तेरहवीं एवं चौदहवीं लोकसभा में सांसद भी रहे। दसवीं राजस्थान विधानसभा के भी सदस्य निर्वाचित रहे हैं। श्री सिंह इससे पहले गहलोत सरकार में पर्यटन मंत्री थे।

कैबिनेट मंत्री रमेश चन्द मीणा का जन्म 15 जनवरी, 1963 को ग्राम नयागांव, तहसील मंडरायल, जिला करौली में हुआ। इन्होंने कोटा महाविद्यलाय से बी.ई. (सिविल), अभियांत्रिकी तक शिक्षा प्राप्त की। तेरहवीं एवं चौदहवीं राजस्थान विधानसभा के सदस्य भी रहे हैं। वर्तमान में पन्द्रहवीं विधानसभा के लिए सपोटरा (करौली) निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। श्री मीणा भी इससे पहले गहलोत सरकार के इसी शासन में मंत्री थे।

उल्लेखनीय है श्री विश्वेंद्र सिंह एवं श्री मीणा को राजनीतिक घटनाक्रम के चलते मंत्री पद से हटा दिया गया था।

कैबिनेट मंत्री महेन्द्रजीत सिंह मालवीया का जन्म 2 दिसम्बर 1960 को बांसवाडा जिले भवानीपुरा,बागीदौरा में हुआ।

इनकी शैक्षणिक योग्यता बी.ए. है। यह भी इससे पहले मंत्री रह चुके हैं।

राज्य मंत्री से कैबिनेट मंत्री बनाये गये टीकाराम जूली का जन्म 03 सितम्बर, 1980 को ग्राम काठूवास, तहसील बहरोड, जिला अलवर में हुआ। इन्होंने अहीर कॉलेज, रेवाड़ी (हरियाणा) से बी.ए. (कला) तक शिक्षा प्राप्त की। वह तेरहवीं राजस्थान विधानसभा के सदस्य निर्वाचित रहे हैं। पन्द्रहवीं विधानसभा के लिए अलवर ग्रामीण निर्वाचन क्षेत्र से से फिर निर्वाचित हुए। श्री जूली गहलोत सरकार के इसी शासन में श्रम राज्य मंत्री थे।

कैबिनेट मंत्री भजनलाल जाटव का जन्म ग्राम झालाटाला, वैर जिला भरतपुर में हुआ। इन्होंने सैकण्डरी तक शिक्षा प्राप्त की है। चौदहवी राजस्थान विधानसभा के सदस्य निर्वाचित रहे हैं। वह 2014-15 व 2017-18 तक अनुसूचित जाति कल्याण समिति के सदस्य भी रहे हैं। वर्तमान में पन्द्रहवीं विधानसभा के लिए वैर (भरतपुर) निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। इन्हें राज्य मंत्री से प्रमोट कर कैबिनेट मंत्री बनाया गया है।
कैबिनेट मंत्री शकुन्तला रावत का जन्म 14 नवम्बर, 1966 में हुआ। इन्होने एम.ए तक शिक्षा प्राप्त की है। श्रीमती रावत विशेषाधिकार समिति की अध्यक्ष एवं कार्य सलाहकार समिति की सदस्य रही है।
राज्य मंत्री के रूप में शपथ लेने वाली जाहिदा खान का जन्म 08 मार्च 1968 को हरियाणा के गुड़गांव जिले में हुआ था । इनके पिता चौधरी तैयब हुसैन थे जो राजस्थान के साथ हरियाणा और पंजाब की राज्य सरकारों में मंत्री रहे। श्रीमती खान ने बीकॉम, एलएलबी तक पढ़ाई की है । आप 13वीं विधानसभा की सदस्य भी रह चुकी हैं । इससे पहले वह 13वीं विधानसभा के दौरान राजस्थान सरकार की संसदीय सचिव थीं ।
राज्य मंत्री बृजेन्द्र सिंह ओला का जन्म झुन्झुनू जिले के अरडावता गांव में एक जुलाई, 1953 को हुआ। इनके पिता पूर्व केंद्रीय मंत्री शीश राम ओला थे।
श्री बृजेन्द्र ओला ने एम.ए एलएलबी तक शिक्षा प्राप्त की है। वह इससे पहले मंत्री रह चुके हैं।
राज्य मंत्री राजेन्द्र सिंह गुढा का जन्म 19 जुलाई 1968 को झुन्झुनूं जिले की गुढा उदयपुरवाटी तहसील में हुआ । इन्होंने बी.ए. तक की शिक्षा प्राप्त की है। श्री गुढ़ा वर्तमान में उदयपुरवाती निर्वाचन क्षेत्र से विधायक हैं। श्री गुढा भी पहले मंत्री रह चुके हैं । उन्होंने बहुजन समाज पार्टी के विधायक चुने गए थे लेकिन बाद में कांग्रेस में आ गये।
राज्य मंत्री मुरारी लाल मीन का जन्म 20 जुलाई 1960 को दौसा जिले के ग्राम अलीयापाड़ा में हुआ था। श्री मीणा ने सिविल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा पास किया है। वर्तमान में, 15वीं विधानसभा में, वह दौसा जिले के दौसा निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं। वे 12वीं और 13वीं विधानसभा के सदस्य भी रह चुके हैं। इससे पहले 13वीं विधानसभा के दौरान वे राजस्थान सरकार के राज्य मंत्री रह चुके हैं। वर्तमान विधानसभा के सदस्य के रूप में वे लोक लेखा समिति सहित राजस्थान विधानसभा की कई समितियों के सदस्य भी रहे हैं

From around the web