श्रीगंगानगरः गंगनहर में पानी घटने पर किसानों ने दी आंदोलन की चेतावनी

 
श्रीगंगानगरः गंगनहर में पानी घटने पर किसानों ने दी आंदोलन की चेतावनी

श्रीगंगानगर। राजस्थान में श्रीगंगानगर जिले को सिंचित करने और पेयजल मुहैया करवाने वाली गंगनहर में पंजाब से पानी की मात्रा घटकर काफी कम हो जाने पर किसानों ने आक्रोश जताते हुए चेतावनी दी है कि पानी की मात्रा नहीं बढ़ाई गयी तो सात मई को किसान ट्रेक्टर और वाहनों से आकर जिला कलेक्ट्रेट का घेराव करेंगे।
किसानों ने आज गुरुद्वारा सिंह सभा में बैठक करने के बाद वृंदावन विहार कॉलोनी में विधायक राजकुमार गौड़ के निवास पर प्रदर्शन किया। जिला कलेक्टर से मिले किसानों के शिष्टमंडल ने गंगनहर में पानी की मात्रा 2000 क्यूसेक से अधिक करने की मांग की।
बैठक में किसानों ने आक्रोश व्यक्त किया कि 25 अप्रैल को गंगनहर में 20 दिन की पानी की बंदी समाप्त होने के बाद कुछ घंटे ही 2000 क्यूसेक से अधिक पानी पंजाब से छोड़ा गया था, जो धीरे-धीरे बाद में कम कर दिया गया। रविवार को पंजाब में फिरोजपुर फीडर की आरडी 45 हैड से पानी सिर्फ 900 क्यूसेक रह गया जो शाम को 700 क्यूसेक तक घट गया। लिहाजा अब राजस्थान -पंजाब सीमा पर खफा हैड पर सिर्फ 500 क्यूसेक पानी ही मिल रहा है। इसमें से भी लगभग आधा पानी जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग को पेयजल के लिए दिया जा रहा है। शेष पानी से गंगनहर की सभी वितरिका और नहरों को पानी नहीं दिया जा सकता।
किसानों ने कहा कि नरमा की बिजाई के दिन हैं और पानी नहीं होने से किसान परेशान हैं। राजस्थान और पंजाब में कांग्रेस की सरकार होते हुए भी इलाके के किसान पानी से वंचित हैं।

From around the web