आईएसआई को भारतीय सेना की गोपनीय जानकारी देने वाला जासूस इंटेलिजेंस टीम की गिरफ्त में

 
ल

जयपुर/जैसलमेर। जैसलमेर में इंटेलिजेंस टीम ने पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए काम करने वाले एक जासूस को सन्देह के आधार पर हिरासत में लिया है। फिलहाल उससे पूछताछ की जा रही है और उसके मोबाइल आदि की जांच पड़ताल की जा रही है

इंटेलीजेन्स महानिदेशक उमेश मिश्रा ने शुक्रवार को बताया कि जयपुर से पहुंची इंटेलिजेंस की टीम ने जैसलमेर के चांधण क्षेत्र से संदिग्ध व्यक्ति चनेसर खान की ढाणी निवासी नवाब खान (32) को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी के लिए जासूसी करने के शक में हिरासत में लिया है। प्रारम्भिक पूछताछ में सामने आया कि आरोपित नवाब तीन साल से आईएसआई के संपर्क में था और वह लगातार उसको फील्ड फायरिंग रेंज में होने वाली सेना की गतिविधियों की जानकारी व फोटो वीडियो आदि सोशल मीडिया के माध्यम से भेज रहा था। फिलहाल हिरासत में लिए गए नवाब को सुरक्षा एजेंसियां जयपुर लेकर आई हैं जहां उससे कड़ी पूछताछ की जा रही है।

इंटेलीजेन्स महानिदेशक ने बताया कि आरोपित नवाब खान की चांधन में दुकान है और वहीं सेना की सबसे बड़ी फील्ड फायरिंग रेंज भी है। यहां पर पूरे साल भर वायुसेना की ऑपरेशनल गतिविधियां चलती रहती हैं। ऐसे में यहां पर पाकिस्तान की खुफिया एजेंसियों की नजर लगी रहती हैं। आईएसआई जैसलमेर के लाठी, चांधण, पोकरण, खेतोलाई आदि क्षेत्रों की जानकारी जुटाने के लिये काम करती है। इसी के चलते जैसलमेर के चांधण क्षेत्र में एक स्थानीय व्यक्ति नवाब खान को पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई ने अपने जाल में फंसा कर उससे सेना व वायुसेना की सामरिक सूचनाएं हासिल करने की कोशिश की। आरोपित नवाब सेना के मूवमेंट की जानकारी पाकिस्तान में आईएसआई एजेंटों को भेजता था। इस दौरान वह भारतीय सुरक्षा एजेंसियों की रडार पर आया और पिछले एक साल से उस पर नजर थी।

उमेश मिश्रा ने बताया कि नवाब खान की रिश्तेदारी पाकिस्तान के रहीमयार खान इलाके के आसपास है जिसके चलते वह कई बार पाकिस्तान जा चुका है। इस दौरान उसकी मुलाक़ात पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के एजेन्टों से हुई और उसे जासूसी के बदले पैसे का लालच दिया। पैसों के लालच में नवाब अपनी दुकान पर सेना व वायु सेना के कर्मियों द्वारा फोटोकॉपी करवाने के लिये लाए गए दस्तावेज की एक्सट्रा कापियां धोखे से रख लेता था। फिर सेना के मूवमेंट की जानकारी सोशल मीडिया के माध्यम से पाकिस्तान भेजता था। सैन्य जानकारियों के बदले नवाब के बैंक खाते में पाकिस्तान की तरफ से कई बार पैसे भी आने की जानकारी सामने आई है। आरोपित नवाब खान से जयपुर में सुरक्षा एजेंसियां पूछताछ कर रही हैं।

From around the web