उत्तराखंड में कांग्रेस का हल्ला बोल, राजभवन कूच कर रहे कांग्रेसियों की पुलिस से झड़प

 
R4TRTH
देहरादून। उत्तराखंड में मंहगाई व भ्रष्टाचार को मुद्दा बनाकर कांग्रेस ने केंद्र सरकार के खिलाफ शुक्रवार को राजभवन कूच किया। पुलिस ने कांग्रेस नेताओं को हाथीबड़कला में बेरिकेडिंग लगाकर आगे जाने से रोक दिया। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा की अगुवाई में कांग्रेसी यहीं धरने पर बैठ गए। राजपुर रोड स्थित कांग्रेस मुख्यालय से पार्टी नेता व कार्यकर्ता 11 बजे राजभवन के लिए निकले। करीब 12 बजे हाथीबड़कला बैरिकेडिंग पर भारी पुलिस बल ने कांग्रेस नेताओं को आगे नहीं जाने दिया, यहां पर पुलिस ओर कांग्रेस नेताओं की जमकर झड़प हुई।

कई कांग्रसी बैरिकेडिंग पर चढ़ गए। इस मौके पर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने मोदी सरकार के विरोध में प्रदर्शन कर नारेबाजी की। प्रदेश अध्यक्ष ने आरोप लगाए कि केंद्र की मोदी सरकार कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी व राहुल गांधी पर बदले की भावना से काम कर रही है।

2010 में ईडी ने अपनी कार्रवाई बंद कर दी थी। लेकिन मोदी सरकार ने जबरन कार्रवाई दोबारा शुरू करवा दी। जो निंदनीय है। उन्होंने देश में बढ़ती महंगाई व बेरोजगारी के लिए मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने कहा कि पार्टी महंगाई, बेरोजगारी, खाद्य पदार्थों पर जीएसटी लगाने और अग्निपथ योजना के विरोध में संघर्ष जारी रखेगी। केंद्र की मोदी सरकार भले ही कितना भी दबाव डाले, लेकिन पार्टी आंदोलन से पीछे हटने वाली नहीं है।

करन माहरा के निशाने पर केंद्र की मोदी सरकार और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) रहे। ईडी की नेशनल हेराल्ड मामले में कार्यवाही से नाराज माहरा ने कहा कि दिल्ली पुलिस और अन्य सुरक्षा बलों ने पार्टी के राष्ट्रीय मुख्यालय, सोनिया गांधी और राहुल गांधी के आवास के आवास को घेर रखा है। कांग्रेस पर तरह-तरह से दबाव डाला जा रहा है, ताकि महंगाई, बेरोजगारी समेत जन सरोकारों को लेकर प्रदर्शन न करे। पूरा देश यह देख रहा है। विपक्ष की आवाज दबाने को प्रतिशोध की राजनीति की जा रही है।

उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भय की राजनीति में विश्वास रखते हैं। उन्होंने भाजपा के हर घर तिरंगा कार्यक्रम के बहाने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ पर हमला बोला। उन्होंने आरोप लगाया कि तिरंगे पर संघ की आस्था नहीं है।

 

From around the web