कोरोना के डर से सोना-चांदी में तेजी

 

नई दिल्ली। कोरोना के बढ़ते खतरे ने एक बार फिर निवेशकों को सोन-चांदी जैसी बहुमूल्य धातुओं की ओर आकर्षित करना शुरू कर दिया है। गुरुवार को इंट्रा ड्रे कारोबार में सोना प्रति दस ग्राम 248 रुपये की तेजी दिखाई और 46152 रुपये के स्तर पर पहुंच गया। चांदी में भी चमक दिखी। चांदी तेजी दिखाते हुए 67 हजार के भाव के पास पहुंचकर आज 66905 रुपये प्रति किलोग्राम की कीमत पर बंद हुई। 

उल्लेखनीय है कि 31 मार्च से लेकर आज तक के छह कारोबारी दिनों में सोने ने लगातार तेजी दिखाई है। 31 मार्च को सोने की कीमत 44190 प्रति दस ग्राम थी, जो आज 1962 रुपये ऊपर 46152 रुपये प्रति दस ग्राम हो गई है। इन छह कारोबारी दिनों में सोने में एक बार फिर मंदी नहीं रही है। सोना हर दिन थोड़ा थोड़ा चढ़ता रहा है। इस दौरान चांदी की चमक भी तेज हुई है। चांदी इन छह कारोबारी दिनों में प्रति किलोग्राम 4043 रुपये महंगा हो गया है। 31 मार्च को चांदी का भाव प्रति किलोग्राम 62862 रुपये थास, जो अब उछाल भरते हुए 66905 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गया है। 

सर्राफा बाजार के जानकारों का कहना है कि पिछले साल भी कोरोना महामारी के साथ सोने के दाम भी तेजी से बढ़े थे। तेजी की रफ्तार ये थी कि अगस्त 2020 में सोना 56 हजार के स्तर तक पहुंच गया था। लेकिन उसके बाद जैसे जैसे कोरोना के खतरे में कमी आई, वैसे वैसे सोना भी गिरता चला गया। अनुमान लगाया जा रहा है कि दूसरे दौर में कोरोना की महामारी अगर और तेज हुई तो सोने में पिछले साल की तरह ही तेजी का रुख बन सकता है। ऐसे में सोना इस साल के आखिर तक 50 हजार के स्तर तक भी पहुंच सकता है। 

लम्बे समय के निवेश के लिए पारंपरिक रूप से हमेशा ही सोना को सबसे फायदेमंद माना जाता है। पिछले एक साल के दौरान सोने ने ऑल टाइम हाई से करीब बारह हजार रुपये तक गिर जाने के बावजूद 10.64 फीसदी का रिटर्न दिया है। 8 अप्रैल 2020 को सोने की कीमत 41710 रुपये प्रति 10 ग्राम थी, जो अभी 46,152 रुपये के स्तर पर है। 

जानकारों का कहना है कि बाजार में अस्थिरता या अनिश्चितता से सोना महंगा होता है। अभी भी कोरोना के कारण दुनिया भर में अनिश्चितता का माहौल बना हुआ है। अनिश्चितता का माहौल बनने से शेयर बाजार पर दबाव बनता है और उसमें गिरावट का रुख नजर आता है, तो आमतौर पर सोने के दाम में तेजी आती है। माना जाता है कि इस दौरान निवेशक शेयरों से पैसा निकालकर सोने में निवेश करते हैं। इससे भी सोने के दाम बढ़ने लगते हैं। 

From around the web