नए पोर्टल पर 2 करोड़ से ज्यादा आईटीआर दाखिल: आयकर विभाग

 
1

नई दिल्ली। आयकर विभाग ने गुरुवार को कहा कि 13 अक्टूबर तक 2 करोड़ से ज्यादा आयकर रिटर्न (आईटीआर) दाखिल किए जा चुके हैं। विभाग ने कहा कि नए ई-फाइलिंग पोर्टल के प्रदर्शन से जुड़ी समस्याएं बहुत हद तक दूर हो गई हैं। गौरतलब है कि आयकर विभाग ने 7 जून, 2021 को नया ई-फाइलिंग पोर्टल शुरू किया था।

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने करदाताओं से वित्त वर्ष 2020-21 के लिए अपना आयकर रिटर्न जल्द से जल्द दाखिल करने की अपील की है। सीबीडीटी ने कहा कि आकलन वर्ष 2021-22 के लिए पोर्टल पर 2 करोड़ से ज्यादा आईटीआर दाखिल किए गए हैं, जिनमें से आईटीआर 1 और 4 का हिस्सा 86 फीसदी है।

सीबीडीटी ने कहा कि यह बात उत्साहित करने वाली है कि 1.70 करोड़ से ज्यादा रिटर्न का ई-सत्यापन हो गया है, जिनमें से 1.49 करोड़ रिटर्न आधार कार्ड आधारित ओटीपी के जरिए दाखिल किए गए हैं। सीबीडीटी ने कहा कि विभाग के लिए आईटीआर की प्रक्रिया शुरू करने और रिफंड जारी करने के मामले में आधार कार्ड संबंधित ओटीपी (वन टाइम पासवर्ड) और अन्य तरीकों के जरिए ई-सत्यापन की प्रक्रिया जरूरी है।

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड के मुताबिक सत्यापित आईटीआर 1 और 4 में से 1.06 करोड़ से अधिक आईटीआर प्रसंस्कृत किए जा चुके हैं। इसमें आकलन वर्ष 2021-22 के लिए 36.22 लाख से ज्यादा रिफंड जारी किए गए हैं। आईटीआर 2 और 3 की प्रोसेसिंग जल्द ही शुरू की जाएगी। सीबीडीटी ने बताया कि 13 अक्टूबर, 2021 तक 13.44 करोड़ से अधिक करदाताओं ने ‘लॉग इन’ किया, जिसमें लगभग 54.70 लाख करदाताओं ने अपने पासवर्ड दोबारा हासिल करने की सुविधा का लाभ उठाया।

उल्लेखनीय है कि इंफोसिस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) सलिल पारेख ने बुधवार को कहा था कि उनकी कंपनी द्वारा विकसित आयकर विभाग के नए ई-फाइलिंग पोर्टल में लगातार सुधार हो रहा है। उन्होंने कहा कि इस पर 1.9 करोड़ रिटर्न दाखिल किए जा चुके हैं। सीईओ पारिख ने कहा था कि करदाताओं की चिंताओं को लगातार दूर किया जा रहा है।

From around the web