टाटा मोटर्स अपने यात्री बिजली वाहन व्यवसाय के लिए 1 अरब डॉलर जुटाएगी

 
1
मुंबईऑटोमोबाइल निर्माता टाटा मोटर्स ने मंगलवार को टीपीजी राइज क्लाइमेट के साथ एक बाध्यकारी समझौता किया, जिसके तहत यात्री बिजली वाहन (ईवी) कारोबार चलाने वाली अपनी नई-निगमित सहायक कंपनी के लिए 1 अरब डॉलर जुटाए जाएंगे। टीपीजी राइज क्लाइमेट अपने सह-निवेशक एडीक्यू के साथ टाटा मोटर्स की एक सहायक कंपनी में निवेश करेगा, जिसे हाल ही में निगमित किया जाएगा।

इसके अलावा, सह-निवेशकों के साथ टीपीजी राइज क्लाइमेट इस कंपनी में 11 से 15 प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल करने के लिए अनिवार्य परिवर्तनीय साधनों में 7,500 करोड़ रुपये का निवेश करेगा, जिसका अर्थ है इक्विटी मूल्यांकन 9.1 अरब डॉलर तक बढ़ाना।

टाटा मोटर्स के अनुसार, नई कंपनी टाटा मोटर्स के सभी मौजूदा निवेशों और क्षमताओं का लाभ उठाएगी और भविष्य के निवेश को इलेक्ट्रिक वाहनों, समर्पित 'बीईवी' प्लेटफॉर्मो, उन्नत ऑटोमोटिव प्रौद्योगिकियों में और चार्जिग इंफ्रास्ट्रक्च र और बैटरी प्रौद्योगिकियों में निवेश को उत्प्रेरित करेगी।

टाटा मोटर्स के चेयरमैन एन. चंद्रशेखरन के अनुसार, "मुझे खुशी है कि टीपीजी राइज क्लाइमेट भारत में एक बाजार को आकार देने वाले इलेक्ट्रिक पैसेंजर मोबिलिटी बिजनेस को स्थापित करने के हमारे सफर में शामिल हुआ है।"

"हम रोमांचक उत्पादों में सक्रिय रूप से निवेश करना जारी रखेंगे जो ग्राहकों को प्रसन्न करते हैं। हम 2030 तक 30 प्रतिशत इलेक्ट्रिक वाहनों की प्रवेश दर के सरकार के दृष्टिकोण में अग्रणी भूमिका निभाने के लिए उत्साहित और प्रतिबद्ध हैं।"

उम्मीद की जाती है कि पूंजी निवेश का पहला दौर मार्च 2022 तक पूरा हो जाएगा और पूरी धनराशि 2022 के अंत तक प्रवाह में आएगी।

ऑटोमोबाइल प्रमुख ने कहा कि लेनदेन मिसाल और प्रथागत अनुमोदन की शर्तो के अधीन है।

From around the web